To Learn Online Click here Your Diksha Education Channel...


>>>

बलिया में दिखा 'सागर' का शानदार रंग, तीन साल बाद पति-पत्नी हुए संग


बलिया। कुछ लोग अपने होकर भी अपने नहीं होते और कुछ बेगाने भी जीवन का हिस्सा बन जाते है...। यह पंक्ति राहुल सिंह सागर पर अक्षरशः सच साबित हो रही है। अब तक कई बिछड़ों को अपनों से मिला चुके सागर सिंह राहुल का प्रयास एक बार फिर रंग लाया है। 


मामला उत्तर प्रदेश के बलिया जिले का है। ओवर ब्रिज पर विक्षिप्त हालत में विगत कई दिनों से बैठे एक व्यक्ति पर युवा नेता व सामाजिक कार्यकर्ता सागर सिंह राहुल की पड़ी। 'सागर' सा दिल वाले सागर ने उस व्यक्ति से पूछताछ की। उसने अपना नाम मुहम्मद सफ़ी शेख, जनपद पाकुड़, झारखंड का रहने वाला बताया। गांव व थाना बताने में असमर्थ मुहम्मद सफ़ी शेख को उसके अपनों तक पहुंचाने का प्रयास सागर ने सोशल मीडिया के जरिये शुरू किया। 


लगातार 24 घंटे की निगरानी रखने के बाद 3 वर्षो से लापता सफीक शेख तक उसके परिजन पहुंच गये। मुहम्मद सफ़ी शेख को देख पत्नी सुरीना, लड़का रमजान शेख, छोटे भाई अब्बुल फैज व सैफ नवाज की आंखें खुशी से छलछला उठी। सागर व उनकी टीम को तहे दिल से शुक्रिया मिली।मुहम्मद सफ़ी शेख का परिवार काफी खुश था।सागर ने पूर्वांचल24 को बताया कि मुहम्मद सफ़ी शेख का परिवार वाराणसी में मजदूरी का काम करता है। वाराणसी से पत्नी सुरीना, लड़का रमजान शेख व दोनों भाई यहां पहुंचे थे। 

Post a Comment

0 Comments