>>>

जवान हो रहा बलिया का यह पशु मेला, पुलिस की सतर्कता से बची दो दर्जन जान


बैरिया, बलिया। इब्राहिमाबाद पशु मेला धीरे- धीरे शबाब पर पहुंचने लगा है। मवेशियों का आवक होने के साथ ही खरीददारों की संख्या में भी बढ़ोतरी हो रही है। हालांकि पंजाब व हरियाणा के व्यवसाई पशुओं को लेकर मेले में नहीं पहुंचे हैं, किंतु बलिया समेत आसपास के जनपदों के पशु व्यापारी अपने पशुओं के साथ मेला में पहुंच चुके है। 

जिला पंचायत द्वारा रोशनी, पेयजल व सुरक्षा के लिए मां कोई व्यवस्था की गई है। समय-समय पर विधायक सुरेंद्र सिंह द्वारा भी मेले का व्यवस्था देखा जा रहा है। कर अधिकारी सुनील कुमार यादव ने बताया कि सात वर्षों बाद जिला पंचायत द्वारा इस मेले का आयोजन किया गया है। बीच की अवधि में ठेकेदारों द्वारा मेले का आयोजन किया जाता रहा है। इस साल किसी ठेकेदार के निविदा नहीं डालने के कारण जिला पंचायत द्वारा पशु मेले की व्यवस्था अपने हाथ में ली गई है। पशु व्यापारियों वह ग्राहकों  को बेहतर सुविधा के लिए सभी जरूरी उपाय किए गए हैं।

पुलिस देख भागे तस्कर
पुलिस को देख मेले में आए गोवंश तस्कर मेले में मवेशी छोड़कर भाग खड़े हुए। घटना गुरुवार की है। मेले में बिहार के कसाई दो दर्जन का खरीद कर लाए थे, जिन्हें मेले का रसीद प्राप्त कर बिहार ले जाने की योजना बना रहे थे। तभी किसी ने पुलिस को सूचना दे दिया। सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंच गई, जिन्हें देखकर गायों को छोड़कर कसाई भाग निकले। पुलिस संबंधित गायों को गौशाला में भिजवाने की तैयारी कर रही है

शिवदयाल पांडेय 'मनन'

Post a Comment

0 Comments