इस खास दिन पर TIC बलिया में सैन्य अफसर ने युवाओं से किया यह आह्वान


बलिया। श्री मुरली मनोहर टाउन इण्टर कालेज में सोमवार को सशस्त्र सेना झण्डा दिवस समारोह मनाया गया। मुख्य अतिथि 90 बटालियन यूपी एनसीसी के कमाण्डिंग आफिसर कर्नल पुनीत अरोड़ा थे। कहा कि सशस्त्र सेना झण्डा दिवस देश की सेवा करने वाले सैनिक को इस बात की गारंटी देता है कि देश की जनता हर हाल में उसके परिवार के साथ खड़ी रहेगी। उन्होंने बताया कि पूरे देश में 7 दिसम्बर को सशस्त्र सेना झण्डा दिवस मनाया जाता है। इसके माध्यम से देश की जनता से धन संग्रह कर कोष इकट्ठा किया जाता है। कोष का उपयोग शहीद हुए सैनिकों, युद्ध के दौरान विकलांग हुए सैनिक व सेवानिवृत्त सैनिकों के परिवार के कल्याण के लिए किया जाता है। 

कर्नल अरोड़ा ने कहा कि आज का दिन देश के लिए सर्वस्व न्योछावर करने वाले सैनिकों के परिवार के लिए कुछ करने का दिन होता है। हम सभी लोग कोष के लिए अपना योगदान देते हैं और सेना के झण्डे को अपने सीने पर लगाकर फख्र महसूस करते हैं। बताया कि देश के 32 राज्य सैनिक कल्याण बोर्ड व 392 जिला सैनिक कल्याण बोर्ड सशस्त्र सेना झण्डा दिवस के माध्यम से देश की जनता से धन संग्रह का कार्य करते हैं। इसमें कालेजों की मुख्य भूमिका होती है। कर्नल अरोड़ा ने समारोह में उपस्थित छात्रों को सेना का महत्व समझाते हुए देश सेवा के लिए सेना में भर्ती होने के लिए आह्वान किया।

कार्यक्रम का आरम्भ विद्यालय के एनसीसी आफिसर स्नेह प्रकाश श्रीवास्तव ने कर्नल पुनीत अरोड़ा को आर्मी फ्लैग का स्टीकर लगाकर किया। कर्नल अरोड़ा के साथ आए एनसीसी के सूबेदार देउ बहादुर को भी आर्मी फ्लैग स्टिकर लगाया गया। इसके बाद प्रधानाचार्य सहित विद्यालय के सभी शिक्षकों को एनसीसी आफिसर द्वारा आर्मी फ्लैग स्टिकर लगाया गया। एनसीसी कैडेट्स ने भी छात्रों को स्टिकर लगाया और डोनर बाक्स में कोष संग्रह किया। विद्यालय के प्रधानाचार्य ने सभी के प्रति आभार व्यक्त किया। उन्होंने बताया कि कोष में एकत्रित धनराशि जिला सैनिक कल्याण बोर्ड को प्रेषित कर दिया जाएगा। समारोह में विद्यालय के शिक्षक गुरूस्वरूप, डॉक्टर राजेश, दिनेश कुमार श्रीवास्तव, राजेश कुमार श्रीवास्तव, रोहित, विजयशंकर राम, कपिल कुमार, सुनील कुमार, योगेश कुमार, सुन्दर श्याम वर्मा व एनसीसी कैडेट्स कृष्णा विश्वकर्मा, विवेक कुमार, सत्यम कुमार, रोहित यादव व अंजनी कुमार साहनी की भूमिका प्रमुख रही। समारोह का संचालन रामकुमार तिवारी ने किया।

Post a Comment

0 Comments