बलिया में चार SI का बदला कार्यक्षेत्र, मुख्य आरक्षी समेत 6 सिपाही लाइनहाजिर


बलिया। पुलिस अधीक्षक देवेन्द्र नाथ ने चार उप निरीक्षकों का जहां क्षेत्र परिवर्तन किया है, वहीं छः सिपाहियों को लाइनहाजिर कर दिया है। निलंबित सिपाहियों में पांच उभांव थाने के है, जबकि एक रसड़ा कोतवाली का। एक साथ उभांव थाने के पांच सिपाहियों के खिलाफ कार्रवाई को देवरिया के मईल थाना पुलिस द्वारा बलिया के एक लाइनहाजिर सिपाही की गिरफ्तारी से जोड़कर देखा जा रहा है।

पुलिस अधीक्षक द्वारा हल्दी थाने पर तैनात उनि राघवराम यादव को उभांव, प्रभारी चौकी कोरंटाडीह गणेश पांडेय को खेजुरी, सुखपुरा पर तैनात उनि मदन लाल पटेल को नरही तथा नरही थाने पर तैनात दिनेश कुमार पाठक को  प्रभारी चौकी कोरंटाडीह भेजा गया है। वहीं, उभांव थाने के मुख्य आरक्षी रामाश्रय यादव, सिपाही दीनानाथ यादव, गांधी यादव, रणजीत यादव व हरिओम साहनी तथा रसड़ा कोतवाली पर तैनात सिपाही सुनील सरोज को लाइनहाजिर किया गया है। 

सोमवार को गिरफ्तार हुआ था एक सिपाही

गौरतलब हो कि उभांव थाने पर तैनात लाइन हाजिर सिपाही दीपनारायण पासवान को गोवंश तस्करी के मामले में मईल थाना पुलिस ने सोमवार को गिरफ्तार किया था। लगभग एक माह पहले भी उक्त सिपाही व अन्य  द्वारा पशुओं से लदे ट्रक को मोटी रकम लेकर छोड़े जाने का मामला प्रकाश में आया था। आखिर एक सिपाही बिना थाने की संलिप्तता से इतनी आसानी से कैसे गोवंशियों से भरी दो ट्रक थाना सीमा से बाहर ले जाने में सफल रहा, जबकि उस रास्ते पर थाना के अलावा तुर्तीपार चेकपोस्ट से उसे गुजरना पड़ा था। गो तस्करी में मईल पुलिस द्वारा अन्य तस्करों के साथ गिरफ्तार सिपाही जिसे एक महिला से वसूली करने व मारने पीटने का वीडियो वायरल होने  के मामले में लाइन हाजिर बताया जा रहा है, लेकिन वह जिले पर मोबाइल ड्यूटी के बाद उभांव थाना पर रह रहा था। किसी भी वाहन को थाना क्षेत्र की सीमा पार करने के पहले थाना भवन व तुर्तीपार पुलिस चेकपोस्ट से होकर गुजरना पड़ता है। ऐसे में उभांव थाना पुलिस की बगैर संलिप्तता गोवंशियों से भरे दो वाहनों का आसानी से सीमा पार कर जाना, किसी के गले नहीं उतर रहा था।   

Post a Comment

0 Comments