To Learn Online Click here Your Diksha Education Channel...


>>>

बलिया : कोरोना काल में और प्रासंगिक हो गया अखंड भारत निर्माण मिशन का 'मिशन'


बैरिया, बलिया। अखंड भारत निर्माण मिशन अपने स्थापना काल से ही जैविक खेती, जैविक भोजन के लिए आमजन से अपील करते आ रहा है। आज जब यूमीन सिस्टम बढ़ाने की बात हो रही है तो मिशन की बात प्रासंगिक हो जा रही है। उक्त उद्गार अखंड भारत निर्माण मिशन रामनगर के संस्थापक पंडित मोहन चंद उपाध्याय के है। वे शुक्रवार की रात मिशन के 14वां स्थापना दिवस पर लोगों को संबोधित कर रहे थे। 
कार्यक्रम का शुभारम्भ उन्होंने दीप प्रज्वलन कर किया। तत्पश्चात सुंदरकांड का आयोजन हुआ उसके बाद रात में दुगोला भोजपुरी मुकाबला का उद्घाटन समाज सेवी सुशील कुमार पाण्डेय ने किया। श्री पाण्डेय ने मिशन के कार्यो की सराहना करते हुए कहा कि समाज के कल्याण मे मिशन व इसके संस्थापक मोहन चन्द उपाध्याय व संस्थापिका आभा उपाध्याय की भूमिका सराहनीय है। व्यास अमर अकेला यादव व व्यास गोलू प्रताप सिंह के बीच हुआ। दोनों गायकों ने रात भर भजन प्रस्तुत कर लोगों को भक्ति सागर में गोते खाने पर विवश किया। मौके पर मनोज पांडे, सुधीर पांडे, उपाध्यक्ष अमिताभ उपाध्याय, श्यामू ठाकुर, सत्येंद्र सिंह, संत दास जी, वशिष्ठ मिश्रा,पंडित मलेश्वर पांडे, बच्चा लाल उपाध्याय, चंदन मिश्रा, उमाशंकर यादव, अजय पाठक, राहुल उपाध्याय, सुशील पांडे, सुरेंद्र सिंह के अलावा सैकड़ों लोगों ने भाग लिया।

मिशन की आस्था
इलाके के रामनगर स्थित अखंड भारत निर्माण मिशन के प्रांगण में स्थित मोहनेश्वर महादेव व राम जानकी मंदिर के प्रांगण में विगत 14 वर्षों से विष्णु सहस्त्रनाम का पाठ जपात्मक व हवनात्मक प्रतिदिन हो रहा है। यह अपने आप में अद्वितीय कार्य है। धार्मिक प्रवृति के लोग इस कार्य की सराहना कर रहे हैं। लंबे समय से चलने वाले इस अनुष्ठान का उद्देश्य विश्वकल्याण है। इसके लिए मिशन ने 11 आचार्यों को नियुक्त कर यह पुनित कार्य संपादित कर आ रहा है।

शिवदयाल पांडेय 'मनन'

Post a Comment

0 Comments