राष्ट्रीय आयुर्वेद दिवस पर बलिया डीएम ने कही ये बात, CDO और BSA भी रहे मौजूद


बलिया। राष्ट्रीय आयुर्वेद दिवस एवं धन्वंतरि जयंती पर जिला आयुर्वेदिक अस्पताल पर पूजन समारोह का आयोजन हुआ। शुभारंभ जिलाधिकारी एसपी शाही और मुख्य विकास अधिकारी विपिन जैन व बीएसए एसएन सिंह ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्ज्वलित कर किया।

जिलाधिकारी शाही ने सबसे पहले पूरे आयुर्वेद महकमे को कोरोना काल में महत्वपूर्ण योगदान के लिए बधाई दी। गोष्ठी में उन्होंने कहा कि भारतीय चिकित्सा प्रद्धति में आयुर्वेद का महत्वपूर्ण योगदान है। हालांकि, बहुत सारी वरीयता के बाद समस्याएं भी हैं। लेकिन सब कुछ के बावजूद सरकारी सिस्टम की सीमाओं के बीच इसे और बेहतर करना है। यह हम सबके प्रयास से ही सम्भव है। उन्होंने कहा, केरल जैसे सुदूर जगहों पर मोटी धनराशि खर्च कर प्राकृतिक इलाज कराते हैं, हमें ऐसा करना होगा कि वैसी सुविधा यहां मिले और उसके प्रति लोगों का विश्वास पैदा हो। भगवान धन्वंतरि के जमदिवस पर यह संकल्प लें कि यह श्रद्धा हमेशा बनी रहेगी। उसी श्रद्धा के साथ अपने दायित्व का निर्वहन करेंगे। अपने कार्य को ऐसा करके दिखाएं, जिससे लोगों का भरोसा जीत सकें। प्रशासन का प्रयास होगा कि इस आयुर्वेद अस्पताल का बेहतर कायाकल्प हो जाए। पंचकर्म अगर सम्भव हो तो उसकी शुरुआत करने की पहल हो। 


सीडीओ विपिन जैन ने कहा कि जिस वैज्ञानिक दृष्टिकोण का प्रचार-प्रसार अब तक नहीं कर पाए थे, उसको करने का समय आ गया है। कोविड के समय आयुर्वेद ने यह साबित कर दिया है कि विकट परिस्थिति में आयुर्वेद का अहम रोल हो सकता है। डिप्टी कलेक्टर सर्वेश यादव, ईओ दिनेश विश्वकर्मा, क्षेत्रीय आयुर्वेदिक एवं यूनानी अधिकारी संजय सिंह समेत आयुर्वेदिक अस्पताल का पूरा स्टाफ मौजूद था। संचालन सतीश उपाध्याय ने किया।

Post a Comment

0 Comments