बलिया : कत्थक नृत्य, नाटक व लोकगीत ने जीता सबका दिल, देखें तस्वीरें


बलिया। दीया-बाती प्रदर्शनी के चौ​थे दिन बुधवार की शाम शास्त्रीय संगीत, नृत्य, नाटक व सुरों की महफिल सजी। इस दौरान कत्थक नृत्य, संकल्प संस्था द्वारा प्रस्तुत नाटक और परम्परागत लोकगीत ने वहां मौजूद अधिकारियों व अन्य लोगों का दिल जीत लिया। कार्यक्रम में बंटी वर्मा द्वारा प्रस्तुत 'चिट्ठी आई है' गीत पर सभी अधिकारियों व आम लोगों ने जमकर तालियां समर्पित किया। इसके अलावा संकल्प संस्था की सोनी ने जालियावाला बाग कांड पर आधारित एकल नाटक से सबसे रोंगटे खड़े कर दिए। 


रंगकर्मी ट्विंकल गुप्ता ने एसिड अटैक पर आधारित मार्मिक नाटक का मंचन किया। वाराणसी से आई स्नेहा डे का कत्थक नृत्य भी सांस्कृतिक कार्यक्रम का सबसे खास लमहा बना दिया। इस पर वहां मौजूद दर्शकों ने खड़े होकर तालियां बजाई। इससे पहले भक्तिगीत से सांस्कृतिक कार्यक्रम की शुरूआत करते हुए चिंटू सेवक ने बलिया पर आधारित गीत सुनाकर खूब वाहवाही लूटी। इसके बाद कन्हैया हरिपुरी और विजय प्रकाश पाण्डेय ने गजल व गाय​क हरी हलचल ने लोकगीत व छठगीत पर सबको लुभाया। शगुनी कुशवाहा ने भी नृत्य की प्रस्तुति दी, जबकि बेसिक शिक्षा अध्यापक अनिल मिश्र ने दीए जलाने के प्रति जागरूक करने वाली गीत सुनाई। इस दौरान सीडीओ विपिन कुमार जैन, सीआरओ विवेक श्रीवास्तव, एडीएम रामआसरे, एसडीएम सदर राजेश यादव, डिप्टी कलेक्टर सर्वेश यादव व सीमा पाण्डेय, नायब तहसीलदार जया सिंह व अजय सिंह, यूनियन बैंक मैनेजर अमित सिंह समेत अन्य लोग मौजूद थे।

Post a Comment

0 Comments