बलिया में दीया-बाती प्रदर्शनी : डीएम ने ली इन विन्दुओं पर जानकारी


बलिया। ऑफिसर्स क्लब में लगी दीया बाती प्रदर्शनी में विलुप्त हो रही चीजों के प्रति लोगों का उत्साह दिखना निश्चित रूप से सुखद क्षण बना रहा। पांच दिवसीय प्रदर्शनी के दूसरे दिन मंगलवार को लोगों ने बड़े उत्साह से ग्रामीण क्षेत्रों में हाथों से बनाई हुई सामग्रियों की खरीद की। इसमें महिलाओं की भागीदारी ज्यादा देखने को मिली। 


जिलाधिकारी एसपी शाही भी मंगलवार को प्रदर्शनी में पहुंचे। दूसरे दिन कुछ नए स्टाल लगे थे, जिनका अवलोकन किया। गंवई क्षेत्र में बने देशी सामान की खरीद करने वाले लोगों से बातचीत की और उन्हें अपने आसपास और गांव-मोहल्ले के लोगों को भी इस प्रदर्शनी में आने के लिए प्रेरित करने की बात कही। गोमूत्र से बनाई गई विभिन्न प्रकार की दवाओं और मच्छर भगाने वाला आइटम भी आकर्षण का केंद्र बना रहा। जिलाधिकारी ने सभी दवाओं और उससे होने वाले लाभ के बारे में जानकारी ली। इस दौरान डिप्टी कलेक्टर सर्वेश यादव, डिप्टी कलेक्टर सीमा पांडे, उपायुक्त उद्योग राजीव कुमार पाठक समेत अन्य अधिकारी साथ थे।

स्कूली बच्चों ने भी देखी गंवई हस्तकला

शहर के राजकीय बालिका इंटर कॉलेज और आरके मिशन स्कूल सागरपाली की छात्राओं ने  भी प्रदर्शनी में प्रतिभाग किया। छात्राओं ने शारीरिक दूरी का पालन करते हुए हर एक स्टालों पर लगे सामानों को देखा। उसको बनाने के तरीकों को समझा। इस दौरान कुम्हारी कला के बारे में भी उनको जानकारी दी गई। 

कार्यालयों में दीया-बाती देने की हुई शुरुआत

जिलाधिकारी के निर्देश पर डिप्टी कलेक्टर सर्वेश यादव ने विभिन्न कार्यालयों में दीया बाती का पैक गिफ्ट देने की शुरुआत मंगलवार से कर दी। मुख्य विकास अधिकारी विपिन जैन के कार्यालय में पहुंचे और उनको सौंपा। विभिन्न कार्यालयों में इसे देने के साथ अधिकारियों से यह अपील की जा रही है कि अपने कार्यालय को इन दीयों और बाती से जगमग करें। उद्देश्य भी यही है कि दिवाली के दिन दीप प्रज्वलन में इन मिट्टी के दीयों का ही प्रयोग करें। कलेक्ट्रेट सभागार में हुई बैठक के बाद सभी एसडीएम को भी यह दीया-बाती गिफ्ट सौंपा गया।

Post a Comment

0 Comments