परिवारों का विघटन रोकें, होगा देश का सर्वांगीण विकास : मस्त

 


बैरिया, बलिया। सांसद वीरेन्द्र सिंह मस्त ने कहा कि देश की साढ़े छः लाख गांवों में लोकतन्त्र की आत्मा बसती है। जब तक  गांव समृद्धशाली नहीं होगा, तब तक देश समृद्ध नहीं होगा और गांव तभी समृद्ध होगा, जब परिवार समृद्ध होगा और परिवार की समृद्धि बिना सयुक्त परिवार के नहीं हो सकता। इसलिए परिवार को विघटन से बचाने के लिए हम सभी को आगे आना होगा। जब तक परिवारों का विघटन नहीं रुकेगा, तब तक देश का सर्वांगीण विकास सम्भव नहीं है। 
रामनगर में अखण्ड भारत निर्माण मिशन के तत्वावधान में मां कवलवासो देवी की 11वीं पुण्यतिथि पर आयोजित कार्यक्रम को बतौर मुख्यातिथि सम्बोधित करते हुए सांसद ने कहा कि आज परिवार टूट रहा है। इससे देश में कई तरह की समस्याएं उत्पन्न हो रही है।परिवार के टूटने से व्यक्ति का सामाजिक मूल्यांकन घटता है। सांसद ने भोजपुरी में कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए लोगों से आग्रह किया कि खाने की सामाग्री अपने खेतों में पैदा करें। कम से कम एक गाय जरूर पाले। कहा कि इस देश मे साढ़े छह लाख गांव है। भारत गांवों में बसता है। महानगरों से भारत की पहचान नहीं है। 



इस कोरोना संकट में अमेरिकी व यूरोपीय देश के लोग भी भारतीय जीवन पद्धति को सर्वोत्तम मानते हुए इसे अपनाना शुरू कर दिया है। जनसंख्या के अनुपात में यहां कोरोना से विकसित देशों की तुलना में कम नुकसान हुआ है। सांसद ने कहा कि कोरोना के चलते सभी कल कारखाने बन्द हो गए थे, किंतु खेती किसानी का कार्य बिना प्रभावित हुए चलता रहा। इसलिए मैं लोगों से भारतीय जीवन पद्धत्ति अपनाने का आग्रह जहां भी जाता हूं, करता हूं। 
इस अवसर पर आखण्ड भारत मिशन के तरफ से मोहन चन्द उपाध्याय व आभा उपाध्याय ने सांसद वीरेन्द्र सिंह मस्त, लोक गायक गोपाल राय व अन्य अतिथियों को अंगस्त्रम् से सम्मानित किया। कार्यक्रम में पूर्व प्रमुख कन्हैया सिंह, कोऑपरेटिव बैंक के अध्यक्ष मुक्तेश्वर सिंह, अमिताभ उपाध्याय, सुशील कुमार पांण्डेय, श्यामसुंदर उपाध्याय, दिलीप गुप्त, आदित्य नरायण मिश्र, गुप्तेश्वर सिंह, राहुल उपाध्याय सहित दर्जनों लोगों ने अपने विचार रखे। संचालन कृष्णकुमार पांण्डेय ने किया। कार्यक्रम में लोकगीत गायक गोपाल राय व उनके सहयोगियों ने अपने मधुर प्रस्तुति से लोगों की खूब वाहवाही लूटी।

मोहनचन्द उपाध्याय व आभा उपाध्याय की प्रशंसा
अखण्ड भारत निर्माण मिशन के तत्वाधान मे सांसद वीरेन्द्र सिंह मस्त ने 500 जरूरतमन्दो में कम्बल वितरण किया। कम्बल पाकर जरूरतमंदों का चेहरा खुशी से खिल उठा। सांसद ने इस पुनीत कार्य के लिए मोहनचन्द उपाध्याय व आभा उपाध्याय की प्रशंसा की।

शिवदयाल पांडेय 'मनन'

Post a Comment

0 Comments