बलिया का वह सरकारी स्कूल, जहां दीवारें भी पढ़ाती है शिक्षा का पाठ ; आज पहुंचेंगे BSA


बलिया। शिक्षा क्षेत्र बेलहरी में स्थित पूर्व माध्यमिक विद्यालय बजरहां (अब कम्पोजिट विद्यालय) की खूबसूरती देखते ही बन रही है। वैसे तो यह विद्यालय पिछड़े ग्रामीण इलाके में स्थित है, लेकिन इसकी खूबसूरती जिले के अन्य स्कूलों से इसे अलग बनाती है। 'ऑपरेशन कायाकल्प' योजना के साथ ही कम्पोजिट ग्रांट के तहत मिली धनराशि का उचित प्रयोग से यह बदलाव संभव हो पाया है। आज (03 अक्टूबर) को बीएसए शिवनारायण सिंह इस विद्यालय पर पहुंचेंगे। बच्चों में ड्रेस वितरित कर उनका उत्साहवर्धन भी करेंगे।


विद्यालय में ऐसी पेंटिंग करवाई गई है, जो न सिर्फ सुंदर और आकर्षक दिख रही है, बल्कि ग्रामीण पृष्ठभूमि के छात्रों की पढ़ाई में भी मददगार साबित होगी। स्कूल की दीवारों पर विज्ञान, गणित, हिन्दी ही नहीं, अन्य विषयों से सम्बंधित भी पेंटिंग करवाई गई है। ताकि बच्चे सामान्य ज्ञान के इन प्रश्नों को आसानी से सीख सकें।



गणित शिक्षक शिव प्रकाश तिवारी बताते है कि यहां बच्चें दीवारों से भी काफी कुछ सीखते हैं। कोशिश की जाती है कि बच्चों का चातुर्दिक विकास हों। हम कोशिश करते हैं कि बच्चे देखकर कुछ अच्छा सीख सकें। इसलिए विद्यालय की दीवारों पर शैक्षणिक पेंटिंग कराई गई है।


हिन्दी शिक्षक नमोनारायण पांडेय कहते है कि विद्यालय के सुंदरीकरण से न सिर्फ छात्र, बल्कि अभिभावक भी खूब आकर्षित हुए हैं। इससे स्कूल में बच्चों का नामांकन भी बढ़ा है। इस स्कूल के अध्यापकों ने शिक्षा बेहतर शिक्षा का माहौल देने की कोशिश की है। 



विद्यालय के विज्ञान शिक्षक अजय कुमार पांडेय बताते है कि हम सभी शिक्षक बच्चों को हमेशा कुछ नई सीख देने की कोशिश करते है। अनुशासन के साथ बच्चों को संस्कार भी दिया जाता है, ताकि उसका कल बेहतर हों। खेलों के प्रति भी रूझान बढ़ाने की हम सभी कोशिश करते हैं। 


कम्पोजिट विद्यालय के प्रभारी अखिलेश ओझा बताते है कि  विद्यालय प्रबंध समिति और ग्राम शिक्षा समिति ने विद्यालय को बेहतर बनाने की है। समितियों की बैठक समय-समय पर होती है, जिसमें शिक्षा, स्वच्छता व अन्य विन्दुओं पर मंथन होता है। विद्यालय के विकास में शिक्षक, अभिभावक, ग्रामप्रधान के साथ ही विभागीय अधिकारियों का भरपुर सहयोग है। 

Post a Comment

0 Comments