ISRO की इस परीक्षा में चमका बलिया का नन्हा वैज्ञानिक, सनबीम बलिया का छात्र है मानस



बलिया। मनुष्य परिस्थितियों का दास होता है, किन्तु जो व्यक्ति विपरीत परिस्थिति को भी अपने हित में प्रयोग कर ले जाता है, उसे ही विश्व पटल पर ख्याति प्राप्त होती है। सन 2020 जहां सभी के लिए कठिनाइयों से भरा रहा, वहीं पिछले कुछ दिनों में सनबीम स्कूल बलिया ने इस प्रतिकूल परिस्थिति को अनुकूल में परिवर्तित कर अनेक उपलब्धियां अपने नाम दर्ज कराई। उपलब्धियों के इसी क्रम में विद्यालय के कक्षा पांचवीं का छात्र मानस गुप्ता ने राष्ट्रीय स्तर पर भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन द्वारा आयोजित साइबरस्पेस प्रतियोगिता में टॉप 100 में स्थान प्राप्त कर अपने तथा विद्यालय के नाम एक नया कीर्तिमान स्थापित किया।



भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन द्वारा विद्यार्थियों के मनोबल को बढ़ाने तथा उनके क्रियात्मक और रचनात्मक कौशल को विकसित करने हेतु विभिन्न आयु-वर्ग के लिए विभिन्न प्रकार के 'साइबरस्पेस प्रतियोगिता' का आयोजन किया गया था, जिसमें मानस गुप्ता ने मॉडल मेकिंग में GSLV MK3 (भूस्थिर उपग्रह प्रक्षेपण यान संस्करण 3) का मॉडल बनाया था। बता दें कि GSLV MK 3 एक ऐसा रॉकेट है, जो 200 हाथियों जितना वजनदार है। यह पूर्णतः भारत में बना है।मानस द्वारा बनाए गए इस मॉडल की इसरो द्वारा सराहना की गई तथा उसे राष्ट्रीय स्तर पर शीर्ष 100 में स्थान दिया गया। मानस की इस उपलब्धि से विद्यालय में खुशी का वातावरण है। विद्यालय प्रबंध समिति के अध्यक्ष संजय कुमार पाण्डेय तथा सचिव अरूण कुमार सिंह ने कहा कि मानस की इस उपलब्धि से ना केवल विद्यालय, अपितु पूर्ण जनपद गौरवान्वित हुआ है। विद्यालय के निदेशक डॉ कुंवर अरूण सिंह ने कहा कि विद्यालय सदैव ऐसे प्रतिभाशाली छात्रों की प्रतिभा को पहचान कर उन्हें प्रोत्साहित करता रहा है। उन्हें एक बेहतरीन प्लेटफॉर्म देने के लिए सदैव प्रयासरत रहता है। विद्यालय के शिक्षक छात्रों की प्रतिभा को निखारने के लिए हरसंभव प्रयास करते हैं। मानस की इस सफलता में मानस के साथ ही, उनकी शिक्षिका श्रीमती श्वेता श्रीवास्तव का अनुकरणीय योगदान रहा। प्रधानाचार्या श्रीमती सीमा ने मानस की उपलब्धि के लिए उसे बधाई देते हुए प्रसन्नता व्यक्त की।

Post a Comment

0 Comments