पंकज सिंह के नेतृत्व में बलिया के शिक्षामित्रों ने सरकार को भेजा मौन संदेश, देखें मांगें


बलिया। प्रदेश नेतृत्व के निर्देश पर उत्तर प्रदेश प्राथमिक शिक्षा मित्र संघ की जिला इकाई के पदाधिकारियों ने शुक्रवार को शिक्षामित्रों की समस्याओं के निराकरण की मांग को लेकर नगर चौक स्थित गांधी प्रतिमा के सामने दो घंटे के लिए मौन धारण किया। इसके साथ ही छह सूत्री मांग पत्र मुख्यमंत्री को भेजा।
मौन धारण करने के पहले गांधी जी प्रतिमा पर पुष्प अर्पित करके उन्हें श्रद्धांजलि दी गई। इस दौरान संघ के जिला प्रभारी पंकज सिंह ने कहा कि प्रदेश के प्राथमिक विद्यालय में पिछले करीब 20 वर्षों से सेवा देते आ रहे शिक्षामित्रों की स्थिति सर्वोच्च न्यायालय के निर्णय के बाद बहुत ही दयनीय हो गई है। मात्र दस हजार रुपये के अल्प मानदेय में परिवार का भरण पोषण मुश्किल हो गया है। भविष्य की चिंता को लेकर मन बहुत ही व्यथित एवं सशंकित रहता है। इसी सदमे से प्रदेश में अब तक 3000 से अधिक शिक्षामित्रों की असामयिक मौत हो चुकी है। कहा कि प्रदेश की योगी सरकार से शिक्षा मित्रों को बहुत उम्मीद है। उन्होंने मांग की कि प्रदेश सरकार शिक्षामित्रों का सेवाकाल 62 वर्ष व 12 माह करे। सम्मानजनक वेतन दे। नई शिक्षा नीति के तहत शिक्षामित्रों के सेवा व अनुभव को देखते हुए उन्हें प्राथमिक विद्यालयों में समायोजित करे। मृत शिक्षामित्रों के परिवारों को आर्थिक सहायता दी जाए।महिला शिक्षामित्रों को अंतर्जनपदीय स्थानांतरण का लाभ दिया जाए।

ये रहे मौजूद

धर्मनाथ सिंह, ललित मोहन सिंह, वसीम, हरेंद्र राम, अमित चेला मिश्रा, अमृत सिंह, दिलीप प्रसाद,सुनील दुबे, अखिलेश पांडेय, बीरेंद्र कुमार, जहीर अंसारी, दिलीप सिंह, जितेंद्र ओझा, सुरेन्द्र मिश्रा, अवधेश सिंह, जगनारायन पाठक, अवधेश भारती, हरेराम यादव, निरुपमा सिंह, डिम्पल सिंह, पिंकी उपाध्याय, ममता सिंह, रीता ओझा, सरोज देवी आदि लोग उपस्थित थे।

Post a Comment

0 Comments