IIT में 1645वां रैंक प्राप्त कर शिक्षक पुत्र ने बढ़ाया बलिया का मान





बलिया। शिक्षा क्षेत्र दुबहर के पूर्व माध्यमिक विद्यालय डुमरी पर तैनात सहायक अध्यापक विद्याभूषण तिवारी के पुत्र विभांशु वैभव ने आईआईटी में 1645वां रैंक प्राप्त कर न सिर्फ माता-पिता, बल्कि जनपद का मान बढ़ाया है। विभांशु वैभव की इस सफलता से शिक्षा जगत में खुशी की लहर है। 
मूलरूप से दलछपरा निवासी विद्याभूषण तिवारी अपने पूरे परिवार के साथ शहर के कल्पना कालोनी में रहते है। इनके पुत्र विभांशु वैभव 2018 में होली क्रास स्कूल बलिया से 10वीं की परीक्षा 97.2 प्रतिशत अंक से उतीर्ण कर सनबीम भगवानपुर में 11वीं में प्रवेश लिया। पाठ्य पुस्तकों को अपना असली दोस्त समझने वाले विभांशु वैभव के लिए 2020 खुशियों भरा रहा। 96 प्रतिशत से 12वीं पास करने के साथ ही आईआईटी में 1645वां रैंक  अर्जित कर विभांशु वैभव ने परिवार व गुरुजनों को बहुत बड़ी खुशी दी है। विभांशु वैभव ने अपनी सफलता का श्रेय माता गायत्री देवी व पिता विद्या भूषण तिवारी के साथ ही गुरुजनों को दिया। बड़े भाई अभिनव अनुराग को अपना रोल मॉडल व पुस्तकों को दोस्त बताते हुए विभांशु वैभव ने कहा कि सफलता के लिए लक्ष्य के साथ ईमानदार मेहनत की है। विभांशु वैभव की सफलता पर प्राशिसं के जिलाध्यक्ष जितेन्द्र सिंह, डॉ.  राजेश पांडेय, अजीत पांडेय, शशिकांत ओझा, भोला प्रसाद इत्यादि ने बधाई दी है।

Post a Comment

0 Comments