बलिया : निजीकरण के खिलाफ विद्युत कर्मचारियों का प्रदर्शन, आपूर्ति को लेकर प्रशासन अलर्ट


बांसडीह, बलिया। बिजली विभाग के कर्मचारियों का  आंदोलन अनवरत जारी है। वहीं, विद्युत आपूर्ति की गति रुक न सकें, इसके लिए प्रशासन भी अलर्ट मोड में है। सभी विद्युत सहायक उपकेंद्र पर लेखपालों व स्थानीय प्रशासन को लगा दिया गया है, ताकि बिजली आपूर्ति में कोई अवरोध उतपन्न न हो सके।इसको लेकर सोमवार की सुबह से ही उपजिलाधिकारी दुष्यंत कुमार मौर्य बांसडीह तहसील क्षेत्र अंतर्गत आने वाले पॉवर सब स्टेशनों पर तहकीकात करते दिखे। इतना ही नहीं, एसडीएम दुष्यंत कुमार मौर्य ने कड़े शब्दों में बिजली कर्मचारियों से कहा कि बिजली आपूर्ति में कमी नहीं आनी चाहिए, अन्यथा सख्त कार्रवाई की जाएगी। जनहित के मामले में शासनादेश के खिलाफ कोई भी विरोध बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

बिजली विभाग के कर्मचारी लामबंद

वहीं दूसरी तरफ बिजली विभाग के सरकारी कर्मचारी भी सभी कार्यो को बहिष्कार धरनारत हैं। बांसडीह पॉवर हाउस पर बैठक को सम्बोधित करते हुए एसडीओ आरके यादव ने कहा कि हम सब दिनरात मेहनत करके आम जन के घरों को रोशन करते है।सरकार अपनी तुगलकी फरमान जारी कर विभाग का निजीकरण कर हम सब के जीवन में अंधेरा लाना चाहती है। साथियों के हौसले को देखते हुए हमें पूर्ण विश्वास है कि सरकार के मंसूबे को कभी कामयाब नहीं होने देंगे।सरकार की बेहतरी इसी में है कि सरकार अपना निर्णय वापस लें। नहीं तो इसके परिणाम सरकार को भुगतने पड़ेंगे। इस दौरान सर्व सम्मति से निर्णय लिया गया कि अगर सरकार हमारी मांगें नहीं मानती है तो हम सब लोग सभी कार्यो को बहिष्कार करते हुए सड़क पर उतरने के लिए बाध्य होंगे। इस मौके पर जेई संजय यादव, जेई आलमगीर अहमद, जेई कैलास रॉव, जेई विजयबहादुर आदि रहे।


विजय गुप्ता

Post a Comment

0 Comments