बलिया : किसानों का आमरण अनशन जारी, फूंका CM का पुतला



मझौवां, बलिया। एनएच 31 के उत्तर अवस्थित विकास खंड बेलहरी की दो दर्जन गांवों की हजारों एकड़ खेतों में बोई गई खरीफ की फसल नष्ट होने पर मुआवजा व खेतों को जलजमाव से मुक्ति दिलाने की मांग को लेकर इंटक नेता विनोद सिंह के नेतृत्व में सैकड़ों किसान  पचरुखिया ढाले पर शनिवार को भी आमरण अनशन पर बैठे  रहे। आक्रोशित कृषकों ने देर शाम पचरुखिया ढाले  पर मुख्यमंत्री का पुतला दहन कर आक्रोश व्यक्त किया।मौके पर देर शाम तक किसी जिम्मेदार अधिकारी के नहीं पहुंचने से लोगों में काफी आक्रोश भी दिखा।  

यमुना ड्रेन के ग्रामसभा छेड़ी में पुलिया ध्वस्त होने से जल निकासी मार्ग अवरुद्ध हो गया है। सिंचाई विभाग के अधिशासी अभियंता चन्द्र बहादुर पटेल के आदेश के बाद भी जेई द्वारा जल निकासी की व्यवस्था नहीं होने पर लोग आक्रोशित हैं। आमरण स्थल पर सीएचसी  सोनवानी के प्रभारी चिकित्सा अधिकारी डॉ मुकर्रम अहमद  की टीम द्वारा अनशन पर बैठे लोगों का स्वास्थ्य परीक्षण किया गया। टीम में बरमेश्वर सिंह, राजीव गुप्ता, सत्य प्रकाश व राकेश सिंह आदि थे। अनशनकरियों की हालत धीरे-धीरे गंभीर होने लगी है। जिस कारण किसानों में शासन प्रशासन के प्रति आक्रोश बढ़ता जा रहा है। अनशनकारियों ने चेतावनी दी है कि यदि उनकी समस्याओं का समाधान नहीं हुआ तो वह 18 पचरुखिया ढाले पर ही शाम को 3:00 बजे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का पुतला दहन करेंगे।


हरेराम यादव

Post a Comment

0 Comments