सोशल मीडिया पर धूम मचा रहा बलिया के शिक्षक का गाना 'शहरन में का बा'



शहरन में का बा?
गांवन में होरहा बा,
कऊड़ा बा,
गिरवछ बा,
गोझा बा,
लिटी आ,
चोखा बा।
शहरन में का बा?
गांवन में बाग बा,
बगइचा बा,
ताल बा,
तलइया बा
नहर आ,
पोखरा बा ।
शहरन में का बा?
गांवन  में,
खेत बा,
खलिहान बा,
मेढ़ आ,
माचान बा।
शहरन में का बा?
गांवन में,
प्यार बा,
ठहराव बा,
भाई बा,
भवद बा,
खुला-खुला आ,
फ़ाका बा।
आ शहरन में,,,?
छल आ,
कपट बा,
नाला आ
गटर बा,
लूट‌ आ 
धोखा बा,
बहुते,
भीड़-भाड़ बा
भेड़िया-धसान बा।
  
धनंजय शर्मा
 बलिया, उत्तर प्रदेश

Post a Comment

0 Comments