बलिया : SDM ने निजी बिजली कर्मचारियों संग थाने में की बैठक, ताकि बहाल हो सकें बिजली


मनियर, बलिया। विद्युत कर्मचारी  संयुक्त संघर्ष समिति के अवाह्न पर कर्मचारियों ने मंगलवार को भी काम काज ठप रखा। इस वजह से विद्युत आपूर्ति अब तक बहाल नहीं हो सकी। उमस भरी गर्मी में 36 घंटे से जनता बेहाल है। इससे दूरभाष, पानी, बैंकिंग, नेटवर्किंग आदि समस्याएं उत्पन्न हो गई है। हालांकि विद्युत आपूर्ति बहाल करने के लिए एसडीएम बांसडीह के नेतृत्व में थाना परिसर में विद्युत विभाग के सभी प्राइवेट कर्मचारियों की मीटिंग लेकर तत्काल बिजली बहाल करने के लिए उनकी समस्याओं के साथ निदान करने का प्रयास में लगे रहे।
बता दें कि बिजली विभाग के निजीकरण के खिलाफ विभागीय कर्मचारी लामबंद होकर काम काज बन्द कर हड़ताल पर चले गए है। इस कारण विद्युत आपूर्ति बाधित हो गई। करीब 36 घंटे बाद एसडीएम बांसडीह दुष्यंत कुमार मौर्य ने मनियर विद्युत उपकेन्द्र पर कार्यरत ओरियन सिक्योर प्रालि के कर्मचारियों की मनियर थाना परिसर में बैठक की। जिसमें कर्मचारियों ने अपनी सुरक्षा के साथ मेगर मशीन ( फाल्ट चेक करने वाला यंत्र ) उपलब्ध कराने की बात के साथ ही 33 हजार बोल्ट का शट-डाउन लेने व देने के लिए लिखित देने वाले नामित जेई की मांग की। इस पर एसडीएम ने लघु सिंचाई विभाग के नामित जेई वैकल्पिक व्यवस्था के तौर पर संजय कुमार के साथ कर्मचारियों को सिकंदरपुर थाना क्षेत्र के करमौता फिडर पर विद्युत फाल्ट दूर करने के लिए शट डाउन लेने के लिए प्राइवेट लाइनमैन सहित मनियर थाने से पर्याप्त पुलिस बल के साथ भेजा गया। विद्युत उप केन्द्र मनियर पर कोई अप्रिय बरादात न हो, इसके लिए पर्याप्त पुलिस बल तैनात कर दी गई है। इस मौके पर एसएचओ मनियर नागेश उपाध्याय सहित दर्जनों विघुतकर्मी मौजूद रहे।

बोले कर्मचारी

ओरियन सिक्योर प्रालि के कर्मचारियों का कहना है कि 11 हजार व 440 वोल्ट तक ही बनने बिगड़ने की जिम्मेदारी हम लोगों की है। 33 हजार बोल्ट का अधिकार हम लोगों के पास नहीं है। 33 हजार बोल्ट का अधिकार एसडीओ व जेई को ही है। जिससे शट डाउन एसडीओ व जेई ही ले सकते है।


वीरेन्द्र सिंह

Post a Comment

0 Comments