बलिया : फ्रेम में लगी शिक्षिका श्वेता तिवारी की तस्वीर देख हर जुबां से निकली यह आवाज



बलिया। रहने को सदा दहर में आता नहीं कोई, तुम जैसे गए वैसे जाता भी नहीं कोई...। किसी अनाम शायर की यह पंक्ति गुरुवार को हर उस शख्स की जुबां पर तैरती दिखी, जिसकी नजर टेबल पर माला लगी शिक्षिका श्वेता तिवारी की तस्वीर पर पड़ी। 
नगरा थाना क्षेत्र के गोठाई गांव निवासी श्वेता तिवारी  PS पाण्डेयपुर पर बतौर सहायक अध्यापिका तैनात थी, जिनकी मौत विगत दिनों Road Accident में हो गयी थी। गुरुवार को उनकी तेरही थी। उनके पैतृक गांव गोठाई पर श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया गया। खंड शिक्षा अधिकारी लालजी शर्मा की अध्यक्षता में पहुंचे शिक्षकों ने उनके तैल चित्र पर पुष्प अर्पित कर सच्ची श्रद्धांजलि दी। इस दौरान उत्तर प्रदेश प्राथमिक शिक्षक संघ नगरा, उत्तर प्रदेश प्राथमिक शिक्षा मित्र संघ, अनुदेशक व परिचारक सभी उपस्थित रहे। दिवंगत शिक्षिका के परिवार को सहयोग राशि 74,600/ प्रदान किया गया। विद्वत्ता की धनी, कर्मठ व लगनशील श्वेता तिवारी की असमय मौत से हर कोई मर्माहत दिखा।  


संजीव कुमार सिंह व बच्चालाल

Post a Comment

0 Comments