बलिया में हंसते-हंसाते मनी फोटो पत्रकार 'जगत चाचा' की पुण्यतिथि


बलिया। बड़े नसीब वाले होते है वो, जो किसी चेहरे पर मुस्कान देते है... यह बात जीते जी ही नहीं, मरने के बाद भी प्रेस छायाकार जगत कुमार पटेल पर चरितार्थ है। रोते को हंसाने व रूठों को मनाने में माहिर 'जगत चाचा' की पुण्यतिथि भी हंसते-हंसाते मनी। उनके साथ बिताए पलों को साझा कर वक्ताओं ने उन्हें मुस्कराती श्रद्धांजलि दी। 


स्थान था टाउन हाल। जनपद के पत्रकार, साहित्यकार, व्यापारी, समाजसेवी व नेता जगत चाचा को याद करने जुटे थे। एक दैनिक अखबार में तीन दशक तक प्रेस छायाकार रहे जगत चाचा हरदिल अजीज थे। उनकी आठवीं पुण्यतिथि पर लोगों ने उनके साथ बिताए पलों को साझा किया। मुख्य वक्ता नगर पालिका के पूर्व चेयरमैन लक्ष्मण गुप्ता ने कहा कि वर्तमान में जगत पटेल जैसे पत्रकारों की सबसे अधिक आवश्यकता है। उन्होंने जिले की पत्रकारिता में आम आदमी की समस्या को तवज्जो दिया।


अध्यक्षता करते हुए पत्रकार दयानंद मिश्रा ने कहा कि मुझे जगत पटेल के साथ काम करने का दशकों तक मौका मिला है। माहौल में चाहे कितना भी तनाव हो, जगत जी उसे चुटकियों में समाप्त कर देते थे। उन्होंने उनकी कुछ ऐसी स्मृतियां सुनाई, जिसे सुन मौजूद सभी लोग ठहाका लगाने लगे। रजनीकांत सिंह, रंगकर्मी आशीष त्रिवेदी व साहित्यकार शिवकुमार कौशिकेय ने जगत जी के विनोदी स्वभाव की चर्चा की। कहा कि व स्नेह, प्यार और समझ की प्रतिमूर्ति थे। वे सरल, सुलभ और अपने आनंद में जीते थे।


सुनील सिंह गुडलक, रविन्द्र नाथ मिश्र, सुधीर ओझा, धनंजय पांडेय, पंकज राय व श्रमजीवी पत्रकार यूनियन के अध्यक्ष अनूप हेमकर ने कहा कि जगत जी बहुत ही विनम्र थे। उनके पास टेंशन दूर करने का मंत्र था। भाजपा नेता राजेश गुप्ता, व्यापारी नेता अरविन्द गांधी, मंजय सिंह, सुनील परख, साहित्यकार नवचंद तिवारी ने कहा कि जगत जी अपना दर्द छुपाकर दूसरों में खुशी बांटते थे। सकारात्मक सोच के धनी जगत जी को हर कोई अपना समझता था।


इसके पहले श्रद्धांजलि सभा की शुरूआत स्व. जगत पटेल के चित्र के समक्ष दीप प्रज्वलित कर किया गया। इस अवसर पर सुधीर तिवारी, प्रशांत बनर्जी, अजय भारती, विवेकानंद सिंह, लवकुश सिंह, पूर्व सभासद अजीत वर्मा,  भोला प्रसाद, देशदीपक यादव, बालकृष्ण मूर्ति, अजय राय, राजू दूबे, सुधीर सिंह डब्लू, राहुल यादव, अशोक जी आदि थे। संचालन रोशन जायसवाल व आभार जगत जी के पुत्र फोटो पत्रकार आलोक रंजन ने व्यक्त किया।

परिजनों को मिला सागर का सम्मान

जगत जी की आठवीं पुण्यतिथि पर आयोजित श्रद्धांजलि सभा में समाजसेवी सागर सिंह राहुल ने उनके भाई गिरधारी पटेल तथा पुत्र आलोक रंजन व रोहित पटेल को अंगवस्त्र से सम्मानित किया।


भोला प्रसाद

Post a Comment

0 Comments