बलिया : चोरी की घटनाओं का बढ़ा ग्राफ, खुलासा एक भी नहीं


दलपतपुर, बलिया। कोरोना महामारी के चलते हुए लॉकडाउन से लेकर अनलॉक टाइम के मध्य चोरी की घटनाओं का काफी वृद्धि हुआ, लेकिन महीनों बाद भी पुलिस एक भी घटना का पर्दाफाश नही कर पाई है। बात यदि केवल मई माह से ही करे तो क्षेत्र के अलग-अलग गावों में आधे दर्जन घरों के सुरक्षाचक्र भेदते हुए चोरों ने घटना को अंजाम देकर हजारों-लाखों की चोरियां की है। चोरी की इन घटनाओं में से कुछ ऐसे भी है, जिनकी रिपोर्ट तक दर्ज नही है।

घटना नम्बर एक
बैरिया थानाक्षेत्र के दलपतपुर निवासी दीपक यादव के घर से 8 मई की रात गहने व नगदी की चोरी, जो लाखों में बताई जा रही है।

घटना नम्बर दो
राष्ट्रीय राज्य मार्ग 31 पर दया छपरा ढाला के नजदीक चिमनी के पास इब्राहिमाबाद निवासी बसन्त कुमार से मारपीट कर लूट का असफल प्रयास। शोर मचाने पर लुटेरे फरार हो गए थे।तब बैरिया थानाध्यक्ष मौके पर पहुचकर लुटरों की पहचानकर शीघ्र गिरफ्तारी का दावा किये थे।

घटना नम्बर तीन
अगस्त माह के 8 तारीख को दलपतपुर निवासी सुरेंद्र वर्मा के घर से 65 हजार की नगदी समेत कीमती सामानों पर चोरों ने किया हाथ साफ।

नंबर घटना चार
10 अगस्त दयाछपरा ओझवलिया निवासी अभय ओझा के घर में घुसकर चोरों ने नगदी समेत कपड़े पर हाथ साफ किए 

घटना नम्बर पांच
17 अगस्त की रात चोरों द्वारा दयाछपरा स्थित पानी की टंकी का ताला चटका कर अंदर रखे औजार को चुराया।

उपरोक्त के अतिरिक्त 22 जुलाई की शाम चिंतामणि राय के टोला निवासी मिस्त्री से टेंगरही ढाले पर साइकिल की छिनतई की घटना हो या 14 जुलाई की रात गुदरी सिंह के टोला निवासी प्रेम सिंह के घर से नगदी सहित आभूषणों की चोरी की घटना हो। इन सभी में किसी एक भी चोरी की घटनाओं का स्थानीय पुलिस खुलासा करने में नाकाम साबित हुई है।क्षेत्र में बढ़ रही वारदातों से ग्रामीणों में असुरक्षा की भावना लगातार बढ़ रही है।

निर्भय पांडेय

Post a Comment

0 Comments