CM योगी ने की बलिया के विकास कार्यो की समीक्षा, इस बात पर की सराहना


बलिया। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने शनिवार को वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से शासन की जनकल्याणकारी योजनाओं व विकास कार्यों की समीक्षा की। उन्होंने कोरोना के रोकथाम के प्रयासों की भी जानकारी ली। लोकसभा सांसद वीरेंद्र सिंह मस्त व रविन्द्र कुशवाहा, राज्यसभा सदस्य नीरज शेखर व सकलदीप राजभर के अलावा बैरिया विधायक सुरेंद्र सिंह, सिकन्दरपुर विधायक संजय यादव, बेल्थरा विधायक धनंजय कन्नौजिया, रसड़ा विधायक उमाशंकर सिंह भी जुड़े थे। इस सभी जनप्रतिनिधियों से मुख्यमंत्री ने जिले के विकास कार्यों व योजनाओं के बारे में फ़ीडबैक लिया।
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि कोरोना पर अंकुश पहले में बलिया में बढ़िया काम हुआ है। उन्होंने इसके लिए नोडल अधिकारी रंजन कुमार व सुजीत कुमार तथा जिलाधिकारी एसपी शाही की सराहना की। आगे भी लोगों को जागरुक करते रहने के लिए विभिन्न कार्यक्रम कराए जाने के निर्देश दिए। 
समीक्षा के दौरान मुख्यमंत्री जी ने जिला प्रशासन को निर्देश दिए कि योजनाओं का बेहतर ढंग से क्रियान्वयन हो। विकास कार्यों व बड़ी परियोजनाओं के निर्माण में गतिशीलता और गुणवत्ता बनी रहे जनशिकायतों के त्वरित समाधान के लिए तहसील व थाना समाधान दिवस शुरू कर जनता को न्याय दिलाएं। जहां विवाद हो वहां पहले से ही पाबंदी की कार्रवाई कर लें। 
मुख्यमंत्री ने कहा कि हर परियोजना के लिए एक-एक नोडल अधिकारी तैनात किया जाए, ताकि उसकी गुणवत्ता व समयबद्धता पर नजर रखी जा सके। जिले में अमृत योजना या पेयजल की कोई स्किम है तो उसकी प्रगति बनी रहे। उन्होंने कहा कि बलिया आर्सेनिक प्रभावित इलाका है। इस समस्या के समाधान के लिए अधिकारी जनप्रतिनिधियों से सम्पर्क स्थापित कर प्रस्ताव बनवा लें। यह भी निर्देश दिए कि यूरिया व डीएपी की कालाबाजारी नहीं हो सके, इस पर खास ध्यान दें। खाद्यान्न वितरण पूरी पारदर्शी तरीके से हो। कहीं भी कोई शिकायत की नौबत नहीं आनी चाहिए। विकास कार्यों के सम्बंध में कहा, ई-टेंडरिंग के माध्यम से पारदर्शी तरीके से ही कोई काम कराएं। शासन स्तर पर लंबित मामले भी निपटा कर विकास कार्यों के लिए तत्काल धन आवंटित करने के निर्देश लखनऊ में मौजिद शासन स्तर से अधिकारियों को दिया। 

मेडिकल कॉलेज के लिए शीघ्र दें भूमि उपलब्धता की सूचना

मुख्यमंत्री ने कहा कि मेडिकल कालेज के लिए जमीन उपलब्धता की बात दो वर्ष से कही जा रही है। जल्दी से भूमि उपलब्धता की सूचना भेजें, ताकि मेडिकल कालेज बनवाने की प्रक्रिया शुरू हो सके। उन्होंने कहा कि पूर्वांचल एक्सप्रेस वे को बलिया से जोड़ने की प्रक्रिया चल रही है। इसके तहत समय से कार्यवाही हो। बलिया में 177 ग्राम पंचायत में पंचायत भवन बनना है, जिसे जल्दी बनवाने की कार्यवाही हो। राजस्व वृद्धि के सम्बन्ध में भी जरूरी निर्देश दिए। जनप्रतिनिधियों से भी लगातार संवाद बनाए रखें।
इससे पहले जिलाधिकारी ने कल्याणकारी योजनाओं व जिले की प्रगति के बारे में विस्तार से जानकारी दी। किसानों को गन्ना भुगतान की समीक्षा में बताया गया कि 3343 किसानों में 3095 किसानों का भुगतान हो गया है। शेष किसानों को कुल मिलाकर 21 लाख का भुगतान करना है, जो जल्द ही हो जाएगा।

कोविड-19 में मण्डल में अव्वल रहा बलिया

मुख्यमंत्री जी ने कोविड-19 के प्रसार पर रोकथाम के प्रयासों की समीक्षा की। मण्डलायुक्त ने बताया कि बलिया में कोरोना पर काफी कंट्रोल है। कुल जांच के मुकाबले 5.96 प्रतिशत पॉजिटिव केस मिल रहे हैं। कुल 4267 केस में 12 प्रतिशत एक्टिव केस रह गए हैं। जिले में बसन्तपुर में एल-2 अस्पताल का काम करीब पूरा हो चुका है। सिर्फ एकाध मशीनें आनी बाकी है, जिसके लिए जिलाधिकारी स्वयं नजर बनाए हुए हैं। मण्डल के तीनों जिलों में बलिया की स्थिति बेहतर रही। 

पुलों के निर्माण की समीक्षा की

मुख्यमंत्री जी ने बड़ी परियोजनाओं के बारे में जानकारी ली। कमिश्नर श्री पंत ने गंगा नदी के श्रीरामपुर घाट पर बनी पुल व सुरक्षात्मक कार्य  के बारे में बताया कि पुल बन चुका है। सिर्फ अप्रोच मार्ग बनना बाकी है, जिसका कार्य प्रगति पर है। इसी तरह सिकन्दरपुर क्षेत्र में घाघरा नदी के खरीद-दरौली घाट पर पुल व अप्रोच मार्ग का निर्माण प्रगति पर है। पानी कम होते ही अक्टूबर से काम शुरू हो जाएगा और समयसीमा में पूरा करा दिया जाएगा। घाघरा नदी पर चांदपुर के सामने पुल के निर्माण के बाबत बताया कि 11 हेक्टेयर जमीन की खरीद बाकी है, जिसकी कार्यवाही की जा रही है। गंगा नदी पर नौरंगा के सामने शिवपुर घाट पर स्वीकृत पुल का निर्माण नवम्बर से शुरू होने की बात कही।

सीवरेज कार्य में तेजी लाने के दिए निर्देश

सीवरेज एवं सेप्टेज प्रबंधन की समीक्षा के दौरान बताया गया कि संशोधित प्राक्कलन एमडी जल निगम के यहां भेजा गया है। वहां से आते ही काम शुरू हो जाएगा। मुख्यमंत्री जी ने इस कार्य को शीघ्र शुरू कराकर तेजी से कराने के निर्देश दिए। समीक्षा में अवमुक्त धन से अधिक खर्चा होने पर प्रमुख सचिव ने सवाल किया, जिस पर बताया गया कि इसमें जिम्मेदार अफसर पर कार्रवाई भी हो चुकी है।

जल संरक्षण पर विशेष काम की जरूरत: मस्त

वीडियो कांफ्रेंसिंग में सांसद वीरेंद्र सिंह मस्त ने कहा कि जल संरक्षण पर विशेष काम करने की जरूरत है। सुरहा ताल एक बड़ा एरिया है और उसका जल प्रवाह बना रहे इस पर भी काम होना चाहिए। ऑर्गेनिक खेती की तमाम सम्भावनाएं हैं। आपके नेतृत्व में प्राकृतिक खेती इतनी हो सकती है कि प्रदेश उसका केंद्र बन सकता है। बाढ़ विभाग के कार्यों को जांच कराए जाने के साथ जेपीनगर जाने वाली जर्जर सड़क का भी निर्माण करा देने की भी बात कही। वहीं, सलेमपुर सांसद ने घर-घर नल योजना के बारे में उपयोगी सुझाव दिए।

रसड़ा में बन रहे सबस्टेशन में आए तेजी

राज्यसभा सदस्य नीरज शेखर ने कहा कि बलिया में बिजली की समस्या है। रसड़ा में 400 केवीए का सबस्टेशन बन रहा है। इस कार्य मे तेजी आए। राज्यसभा सदस्य सकलदीप राजभर ने मनियर में बने अस्पताल भवन को चालू करने की मांग की। वहीं, रसड़ा विधायक उमाशंकर सिंह ने कहा कि रसड़ा में मुख्य मार्ग पर 80 एकड़ भूमि उपलब्ध है। उसका सदुपयोग किया जा सकता है। चीनी मिल भी चालू हो जाती तो जिले के गन्ना किसानों की दिक्कत काफी कम हो जाती। घाघरा नदी पर भागलपुर पुल के जरिए आने वाले रास्ते को स्टेट हाई वे घोषित करने की मांग को। 

निर्भया के नाम पर बने राजकीय डिग्री कालेज: उपेंद्र

खेल मंत्री ने अवगत कराया कि हर वर्ष पुलिस लाइन व स्टेडियम में जलजमाव से स्थिति खराब हो जाती है। गडहांचल में अगलगी की होने वाली घटनाओं के दृष्टिगत उधर फायर स्टेशन बनवाने की कार्यवाही में तेजी लाने के लिए निर्देशित करने की बात कही। निर्भया के नाम पर डिग्री कालेज बनवाने की मांग की, ताकि उधर की बालिकाओं को दूर जाने से निजात मिल सके।

एसटीपी निर्माण की बाधाएं दूर हो: आनंद

राज्यमंत्री आनंद स्वरूप शुक्ल ने एसटीपी निर्माण का समाधान कराने के साथ मेडिकल कालेज की एक बार फिर मांग की। चन्द्रशेखर यूनिवर्सिटी में जलजमाव की समस्या से अवगत कराया। मंत्री शुक्ल ने यह कहा कि नगर क्षेत्र की कुछ सड़कों का प्रस्ताव दे दिया है, जिसको स्वीकृत कराने को कहा, ताकि खराब सड़क की समस्या खत्म हो जाए। शहर के बीच गडहा मुहल्ला की लोहिया मार्केट के आवंटन कराने पर मुख्यमंत्री ने जिलाधिकारी को शीघ्र इसे देखकर चालू कराने की कार्यवाही करने के निर्देश दिए। गंगा नदी के श्रीरामपुर घाट पर बन रही पुल का निर्माण बिहार साइड में अप्रोच मार्ग बने, इसके लिए प्रयास हो। 

समय से वरासत-पैमाइस नहीं हो तो लेखपाल की हो जवाबदेही

बैरिया विधायक सुरेंद्र सिंह ने मुख्यमंत्री जी से कहा कि शिवपुर में गंगा पर स्वीकृत वीर कुंवर सिंह सेतु के लिए पर धन अवमुक्त करवा दें। वरासत व पैमाइस कार्य में पारदर्शी व्यवस्था कराने की बात कही। इस पर मुख्यमंत्री ने सभी डीएम को निर्देश दिए कि वरासत व पैमाइस की समयसीमा तय हो। उसमें नहीं हो तो लेखपाल की जवाबदेही तय हो और कार्रवाई भी हो। सोनबरसा सीएचसी पर सामान्य इंजेक्शन भी नहीं होने की शिकायत पर मुख्यमंत्री जी ने सीएमओ डॉ जितेंद्र पाल को सख्त निर्देश दिए। बाढ़ का प्रभाव कम करने के लिए  विधायक ने मुख्यमंत्री जी का आभार जताया।

स्पोर्ट्स कॉलेज के निर्माण में आई तेजी

सिकंदरपुर विधायक संजय यादव ने कहा कि पूर में स्पोर्ट्स कालेज की बाउंड्री बन चुकी है, लेकिन इसमें और तेजी लाने की जरूरत है। उन्होंने खरीद-दरौली पुल के संपर्क मार्ग के लिए किसानों को भुगतान करने में लापरवाही की बात कही। इस पर मुख्यमंत्री जी ने जिलाधिकारी को इस मामले का निस्तारण कराने की जिम्मेदारी दी।

Post a Comment

0 Comments