बलिया : जेठानी बनीं PRINCIPAL, देवरानी पुलिस अफसर



बलिया। सिकंदरपुर थाना क्षेत्र के बनरहा गांव निवासी डॉ. ओम प्रकाश सिन्हा की दो बहुएं शालिनी श्रीवास्तव एवं नमिता शरण ने उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग 2018 की परीक्षा पास की है। ये दोनों जेठानी व देवरानी हैं। जेठानी शालिनी श्रीवास्तव पत्नी सौरभ सिन्हा का प्रधानाचार्य पद पर चयन हुआ है, जबकि देवरानी नमिता शरण का पुलिस उपाधीक्षक के पद पर। वर्तमान में शालिनी वाराणसी के रामनगर स्थित राधाकिशोरी राजकीय बालिका इंटर कालेज में सहायक अध्यापिका के पद पर तैनात है। दोनों ने सफलता का श्रेय माता-पिता के सा‌थ ही सास-ससुर व पति को दिया।

प्राथमिक शिक्षिका भी रह चुकी है शालिनी

शालिनी सबसे पहले बांसडीह शिक्षा क्षेत्र के प्राथमिक विद्यालय रजौली में सहायक अध्यापक के पद पर तैनात थी। शालिनी ने बताया कि यूपीपीसीएस की परीक्षा में दूसरी बार में सफलता हासिल की। शिक्षा से एक दशक से जुड़ी हुई हूं। इसलिए मेरा फोकस बच्चियों की शिक्षा पर रहेगा। सरकार ने लड़कियों के लिए तमाम योजनाएं चलाई हैं, जिसका लाभ मिल रहा है। नई शिक्षा नीति आने वाले दिनों में परिवर्तन लाएगी। शिक्षकों की मॉनिटरिंग व समय-समय पर ट्रेनिंग देनी होगी। शिक्षकों को अपने दा‌यित्वों को समझना होगा। 

सफलताएं चूमती रही है नमिता शरण का कदम

नमिता शरण पत्नी शिशिर कुमार सिन्हा वर्तमान में पति के साथ गोरखपुर में रह रही है। नमिता ने यूपीपीसीएस परीक्षा में 18वीं रैंक हासिल की है। उन्होंने यह सफलता तीसरी बार में अर्जित की है। इसके पहले नमिता का बिहार में वर्ष 2016 में जिला प्रोबेशन अधिकारी के पद पर चयन हुआ था। उन्होंने छह माह हाजीपुर में ट्रेनिंग भी की और सीवान में नियुक्त मिली। इसी बीच उप्र में वर्ष 2017 में जिला खाद्य विपणन अधिकरी के पद पर चयन हो गया। उन्होंने जिला प्रोबेेशन अधिकारी के पद से इस्तीफा दे दिया, लेकिन अभी तक 2017 की परीक्षा का नियुक्ति पत्र नहीं आया है। इस बीच यूपीपीसीएस 2018 में पुलिस उपाधीक्षक के पद चयन हो गया। बताया कि वह पुलिस उपाधीक्षक के पद पर ज्वाइन करेंगी। महिलाओं व समाज में फैली कुरीतियों को दूर करने की ‌कोशिश करेंगी।  

Post a Comment

0 Comments