बलिया : बागीचे में मिला था नवजात, न्यायिक सदस्य की पहल पर पहुंचाया अस्पताल


बांसडीह, बलिया। बांसडीह कोतवाली क्षेत्र के पिंडहरा बगीचे में रविवार की सुबह एक नवजात शिशु किलकारियां भरते हुए मिला, जिसे दरांव निवासी श्रीमती सकली देवी पत्नी छठु राजभर पालने के लिये अपने घर  ले गयी है
यह बात सोशल मीडिया के माध्यम से न्यायपीठ बाल कल्याण समिति बलिया के न्यायिक सदस्य राजू सिंह को जैसे ही पता चली, उन्होंने त्वरित संज्ञान लिया। राजू सिंह ने चाईल्ड लाईन बलिया को नवजात लाने के लिये गांव दरांव भेजा। बांसडीह थाने के उपनिरीक्षक अजय कुमार यादव ने चाईल्ड लाईन टीम मेम्बर कमल किशोर चौबे व सौरभ सिह को नवजात शिशु को दम्पति से लेकर सुपुर्द किया। चाईल्ड लाईन ने नवजात शिशु को सिक न्यु बोर्न केयर युनिट बलिया में भर्ती कराने के बाद न्यायपीठ बाल कल्याण समिति को अवगत करा दिया। 


न्यायिक सदस्य राजू सिंह ने बताया कि स्व स्वास्थ्य होने के बाद नवजात को शिशुगृह भेजा जायेगा। लावारिस बच्चों को पालना गैरकानूनी है। अगर किसी दम्पति को बच्चे चाहिए तो केंद्रीय दत्तक ग्रहण संशाधन प्राधिकरण की बेबसाईट cara.nic.in पर आनलाईन आवेदन कर सकते है, जो कानूनी रुप से वैध है।

विजय गुप्ता

Post a Comment

0 Comments