प्रदेश सरकार के खिलाफ सपा ने फूंका बिगुल, बलिया से उठेगी बर्खास्तगी की मांग


बलिया। उत्तर प्रदेश सरकार की जनविरोधी नीतियों के खिलाफ 21 सितम्बर को तहसील मुख्यालयों पर समाजवादी पार्टी द्वारा दिए जाने वाले पत्रक कार्यक्रम तैयारी को लेकर बलिया नगर एवं फेफना विधानसभा क्षेत्र के वरिष्ठ नेताओं की बैठक समाजवादी पार्टी के कार्यालय सम्पन्न हुई। 
उपस्थित नेताओ ने कहा कि प्रदेश में कानून ब्यवस्था की स्थिति बद से बदतर हो गई है। अपराधी बेखौफ हो गए है। इस कॅरोना महामारी काल में सरकार में बैठे लोग सिर्फ धनउगाही में ब्यस्त है, जबकि चिकित्सा ब्यवस्था बिल्कुल बेपटरी हो गई है। महामारी काल में बाहर से आए मजदूरों की स्थिति दयनीय हो गयी है। सरकार सिर्फ विज्ञापनों में बेहतरी की बात दिखा रही है, जमीन पर नहीं।जिलाध्यक्ष राजमंगल यादव ने कहा कि पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के निर्देश पर 21 सितम्बर को सामाजिक दूरी को ध्यान में रखते हुए बलिया के समाजवादी साथी उत्तर प्रदेश की जनविरोधी सरकार की नीतियों का पर्दाफाश करेंगे। उपजिलाधिकारी के माध्यम से महामहिम राज्यपाल को संबोधित पत्रक सौप कर भाजपा सरकार को बर्खास्त करने की मांग करेंगे। साथ ही स्थानीय समस्याओं के तरफ भी प्रशासन का ध्यान आकृष्ट कराएंगे।
पूर्व विधयक श्रीमती मंजू सिंह ने कहा कि सरकार में बैठे लोग सिर्फ लम्बी-लम्बी बात कर रहे है। झूठ बोलने के अलावा इनके पास कोई अन्य काम नहीं है। प्रदेश में जनता परेशान है। विकास के नाम पर एक भी ईट बर्तमान सरकार द्वारा नहीं रखा गया। बहू बेटियों की इज्जत सुरक्षित नहीं है। बैठक में पार्टी के जिला प्रवक्ता सुशील पाण्डेय 'कान्हजी', संजय उपाध्याय, लक्ष्मण गुप्ता, बंशीधर यादव, मृत्युंजय तिवारी बब्बलू, संतोष भाई, शशिकांत चतुर्वेदी, राजन कनौजिया, कुबेर तिवारी, अजय यादव, दिनेश यादव, प्रभुनाथ यादव, ओमप्रकाश यादव, रामभरोसे यादव, आशुतोष ओझा, बीर लाल यादव, कृपा शंकर यादव, वीरेंद्र पासवान, चंद्रजीत यादव, प्रदीप गुप्ता, नन्हे यादव आदि ने अपना विचार ब्यक्त किया।

Post a Comment

0 Comments