रामजन्म भूमि शिलान्यास समारोह में प्रतिभाग को काशी विद्वत परिषद का दल रवाना


वाराणसी। 5 अगस्त को प्रस्तावित राम जन्मभूमि शिलान्यास समारोह में काशी विद्वत परिषद का तीन सदस्यीय दल काशी विद्वत परिषद के मंत्री पंडित राम नारायण द्विवेदी के नेतृत्व में अयोध्या प्रस्थान किया। इसके पूर्व काशी विद्वत परिषद के संगठन मंत्री डॉक्टर उत्तम ओझा द्वारा श्री संकट मोचन मंदिर के मुख्य द्वार पर विद्वत जनों का अभिनंदन समारोह आयोजित कर उन्हें रामलला मंदिर निर्माण में काशी से एक ईट प्रदान किया।

काशी विद्वत परिषद के संगठन मंत्री डॉक्टर उत्तम ओझा ने बताया कि भगवान राम का कोई भी कार्य हनुमान जी के बिना हो पाना संभव नहीं। इसलिए प्रस्थान हेतु संकटमोचन मन्दिर का स्थान चुना गया। प्रधानमंत्री नरेंद्र भाई मोदी भी पहले हनुमानगढ़ी जाएंगे। हनुमान जी का दर्शन करेंगे।फिर भगवान राम के प्रस्तावित मंदिर का शिलान्यास करेंगे। 

आयोजित समारोह में वयोवृद्ध प्रख्यात ज्योतिष आचार्य पंडित रामचंद्र पांडे जी ने बताया कि जिस काल में भगवान राम के मन्दिर का शिलान्यास हो रहा है, उस काल में अभिजीत मुहूर्त है। अभिजीत मुहूर्त के मध्यान्ह काल में भगवान श्रीराम का जन्म हुआ था। इसलिए इस समय को चुना गया, जो ज्योतिष की दृष्टि से बिल्कुल उपयुक्त है। 

काशी विद्वत परिषद के मंत्री प्रोफेसर पंडित राम नारायण द्विवेदी ने कहा कि काशी विद्वत परिषद के देखरेख में ही संपूर्ण शिलान्यास की प्रक्रिया संपन्न कराई जाएगी। विद्वत परिषद के सदस्य प्रोफ़ेसर आचार्य विनय त्रिपाठी ने इस बात पर प्रसन्नता जाहिर की कि राम जन्म भूमि के शिलान्यास कार्य काशी विद्वत परिषद की देखरेख में संपन्न होगा।

इस अवसर पर विभिन्न संस्थाओं संगठनों ने भी विद्वत जनों का सम्मान एवं अभिनंदन किया। इसमें मुख्य रुप से राहुल भारत उत्तर प्रदेश जर्नलिस्ट एसोसिएशन के अध्यक्ष डॉ अरविंद सिंह, डॉक्टर सुनील  मिश्रा, सुमित सिंह, आचार्य पंडित दुर्गा शंकर पांडे, प्रदीप सोनी, ममता द्विवेदी, प्रोफेसर अशोक सोनकर सहित अनेक गणमान्य लोग उपस्थित रहे।

Post a Comment

0 Comments