10 साल पहले जलकर मरी थी मां, अब इस हाल में मिला प्रतियोगी बेटे का शव Ballia News


रेवती, बलिया। सहतवार थाना क्षेत्र अंतर्गत बरियारपुर गांव में शनिवार को एक युवक ने मौत को गले लगा लिया। सूचना मिलते ही सीओ बांसडीह दीपचंद व सहतवार पुलिस मौके पर पहुंचकर शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए जिला मुख्यालय भेज दिया।
बरियारपुर निवासी रोहित कुमार (22) पुत्र संजय प्रसाद का शव शनिवार की सुबह करीब 10 बजे घर के अन्दर पंखे से लटकता हुआ मिला। घर के सदस्य पुलिस के पहुंचने से पहले ही पंखे से उतार कर दरवाजे के पास रख दिये थे। परिजनों का कहना है कि रोहित 9 बजे के करीब बाहर घूमने के बाद अपने कमरे में बन्द कर पढ़ रहा था। 10 बजे के करीब हम लोग खाना देने के लिए दरवाजा खुलवा रहे थे तो रोहित दरवाजा नहीं खोल रहा था। किसी अनहोनी की आशंका को देख हम लोग दरवाजा तोड़ दिये। अन्दर रोहित पंखे से लटक रहा था, जिसे हम लोग नीचे उतार कर पुलिस को सूचना दिये। इस आत्महत्याा को लेकर गांव में तरह तरह की चर्चायेे व्याप्त है।

प्रतियोगी छात्र था रोहित

रोहित प्रयागराज (इलाहाबाद) में रहकर प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहा था। होली में अपने घर पर आया था। होली बाद कोरोना महामारी के चलते लगे लाक डाऊन में दुबारा प्रयागराज नहीं गया था। रोहित की मां की मौत लगभग 10 वर्ष पहले जलने से मौत हो चुकी है। रोहित की एक बहन पुनम है, जो दिल्ली रहती है। पिताजी भी फौज में है। रोहित की मौत की सूचना मिलते ही उनके रिस्तेदार बरियापुर पहुंचने लगे। रोहित की मामी रोहित की मौत को संदिग्ध मान रही है।उनका कहना है कि रोहित आत्म हत्या नहीं कर सकता है। उसके मां को भी जलाकर मार दिया गया था। जिसका केश चला। बाद में समझौता हुआ है।


पुष्पेंद्र तिवारी 'सिन्धु'

Post a Comment

0 Comments