'बांध के दुपट्टा में दिल ले गइल' की शुटिंग का मुहूर्त... जानें इसका बलिया कनेक्शन


बलिया। भोजपुरी फिल्म 'बांध के दुपट्टा में दिल ले गइल' की शुटिंग का मुहूर्त शहर से सटे बसंतपुर गांव से किया गया। यह फिल्म गांव और शहर के माहौल को जोड़कर बनाई गई है, जो पूरी तरह से फैमिली ड्रामा है। इसकी कहानी अश्लीलता से परे और रोमांच तथा रोमांस से भरपूर है। फिल्म में बतौर अभिनेता तथा भोजपुरी फिल्मों में रावडी स्टार के नाम से मशहूर प्रेम सिंह है, जबकि अभिनेत्री का किरदार बलिया के चिलकहर की बेटी और दर्जनभर भोजपुरी फिल्मों में अभिनय कर चुकी श्रुति राव हैं। 



इसकी जानकारी देते हुए फिल्म निर्माता/निर्देशक समीर सिंह ने बताया कि इस फिल्म को मशहूर संगीतकार छोटे बाबा अपनी धुनों से सजाएंगे, जबकि गीत लेखन का जिम्मा सच्चिदानंद कवच, समीर सिंह आदि निभाएंगे। करीब 40 वीडियो एल्बम का निर्माण कर चुके समीर सिंह ने बताया कि फिल्म में सहयोगी कलाकारों में आरके गोस्वामी जेपी सिंह, साहब लालघाटी की भी महत्वपूर्ण भूमिका होगी। 



बतौर निर्माता-निर्देशक यह मेरी पहली फिल्म है। मेरा प्रयास है कि भोजपुरी के दर्शकों को अश्लीलता से दूर रोमांस और रोमांच से भरपूर परिवारिक फिल्म प्रस्तुत की जाए। बसंतपुर निवासी डायरेक्टर समीर सिंह ने बताया कि बतौर डायरेक्टर पह उनकी पहली भोजपुरी मूवी है। थिएटर से काफी पहले से जुड़ा हूं। मेरा लक्ष्य भोजपुरी से अश्लीलता दूर करने का भी है। इसके लिए अभियान भी चला रहा हूं। इसमें हर कलाकार व दर्शक सहयोग करें तो निश्चित ही यह मुहिम सफल होगी।




अश्लीलता को दूर करने के लक्ष्य से इस इंडस्ट्री में उतरा हूं : एक्टर

एक्टर प्रेम सिंह ने कहा कि भोजपुरी से अश्लीलता को दूर करने के लिए लक्ष्य के साथ इस इंडस्ट्री में उतरा हूं। प्रयास यही होगा कि ऐसी फिल्में करूं जो एकदम साफ सु​थरी हो। कोई अपने परिवार के साथ भी देख सके। ऐसी दो​ फिल्में कर चुका हूं, जिसे लोगों ने काफी पसंद किया। मूल रूप से छपरा के सुहई शाहपुर निवासी व भोजपुरी इंडस्ट्री में रॉउडी हीरो के नाम से मशहूर प्रेम सिंह ने बताया कि उन्होंने 'जान हमार' से अपना डेब्यू किया। उनकी इस वर्ष की मशहूर भोजपुरी फिल्म 'पंगेबाज' हिट जा चुकी है। दो और फिल्मों की शूटिंग पूरी हो चुकी है, जो जल्द ही रिलीज होने वाली है। फ़िल्म इंडस्ट्री में आने के बाबत प्रेम ने बताया कि कलकत्ता में एक मोबाइल कम्पनी में जॉब करता था। उसी बिल्डिंग में फ़िल्म से जुड़ा एक ऑफिस था। उसमें भोजपुरी स्टार्स की फोटो देख मन में वैसा बनने का ख्याल आता था।

उपेन्द्र सिंह

Post a Comment

0 Comments