छात्रों के लिए टेलीविजन पर कक्षा व विषयवार प्रसारित होगी वीडियो, बलिया में कंट्रोल रूम स्थापित


बलिया। कोरोना काल में विद्यालय खुलने की स्थिति नहीं बन पाने के कारण वर्चुअल स्कूल व ई-ज्ञान गंगा के माध्यम से पठन पाठन सुनिश्चित कराने के निर्देश शासन से मिले हैं। डीआईओएस भाष्कर मिश्र ने पूरी व्यवस्था की जानकारी देते हुए बताया कि शासन स्तर से यह निर्णय लिया गया है कि टेलीविजन पर प्रसारण के जरिए छात्रों को शिक्षा दी जाए। इसके लिए स्पेशल शिक्षकों का चयन हुआ है,  जिनकी वीडियो दूरदर्शन व स्वयंप्रभा चैनल पर प्रसारित की जाएगी। वीडियो में कोई त्रुटि न हो, इसलिए एनसीईआरटी के विशेषज्ञों द्वारा विस्तृत जांच पड़ताल के बाद ही जारी होगी। सभी शिक्षकों को भी निर्देश दिए गए हैं कि वह खुद भी समय से प्रसारण को देखेंगे। अनुमान है कि करीब 80 फीसदी बच्चों को इस व्यवस्था का लाभ जरूर मिलेगा। हर दस विद्यालय पर एक नोडल अधिकारी बनाए गए हैं, जो हर हफ्ते की समीक्षात्मक रिपोर्ट डीआईओएस को देंगे।

उन्होंने बताया कि ऑनलाइन क्लास की व्यवस्था पहले भी शुरू की गई थी, लेकिन उसका लाभ वही लोग ले पाए जिनके पास लैपटॉप या स्मार्टफोन थे। ऐसे में स्मार्टफोन नहीं होने से बहुत सारे छात्र वंचित हो जा रहे थे। इसी को देखते हुए यह निर्णय लिया गया है। डीआईओएस मिश्र ने बताया कि अगर कोई टीवी पर देखने से वंचित रह गया तो वह माध्यमिक शिक्षा विभाग के यूट्यूब चैनल पर उपलब्ध उन वीडियो को देख सकता है।

तीन भागों में है संशोधित पाठ्यक्रम, शिक्षकों के लिए यह निर्देश

डीआईओएस ने बताया कि वर्तमान सत्र के लिए पाठ्यक्रम कम करते हुए संशोधित पाठ्यक्रम का विभाजन तीन भागों में किया गया है। पहला, दूरदर्शन स्वयंप्रभा चैनल पर लेक्चर के माध्यम से पढ़ाई जाने वाला पाठ्यक्रम, दूसरा छात्र द्वारा स्वयं अध्ययन किए जाने वाला पाठ्यक्रम तथा तीसरा प्रोजेक्ट वर्क से संबंधित पाठ्यक्रम। ऑनलाइन शिक्षा के लिए शिक्षक व्हाट्सएप ग्रुप का भी प्रयोग करेंगे और माध्यमिक शिक्षा विभाग के यूट्यूब चैनल पर उपलब्ध शिक्षण सामग्री को शेयर करते रहेंगे, ताकि इंटरनेट का प्रयोग करने वाले छात्र लाभान्वित हो सकें। हफ्ते में पांच दिन वीडियो देखने के बाद प्रत्येक शनिवार को दिन में 10 से 2 बजे के बीच शिक्षकों द्वारा विद्यार्थियों की जिज्ञासाओं का समाधान व्हाट्सएप या फोन द्वारा किया जाएगा। इसके लिए विद्यालय स्तर पर विषयवार शिक्षकों का मोबाइल नंबर उपलब्ध कराया जाएगा।

जिनके पास कोई व्यवस्था नहीं, उनको पहुंचाई जाएगी पाठ्य सामग्री

बतौर डीआईओएस, जिनके पास टीवी या स्मार्टफोन नहीं है उनके लिए कोशिश की जा रही है कि पंचायत भवन पर टेलीविजन की व्यवस्था हो जाए। अगर दोनों व्यवस्था के बाद भी कुछ छात्र पढ़ाई से वंचित रह जाते हैं तो उसके लिए पत्राचार शिक्षा संस्थान, प्रयागराज से प्राप्त पठन पाठन से संबंधित मैटेरियल पहुंचाने की कोशिश होगी।

*दूरदर्शन यूपी पर 10 व 12वीं तथा स्वयंप्रभा चैनल पर 9-11 की वीडियो का प्रसारण*

जिला विद्यालय निरीक्षक ने बताया कि कक्षावार तथा विषयवार लेक्चर्स वीडियो के माध्यम से पढ़ाए जाएंगे। 10वीं व 12वीं के लिए दूरदर्शन यूपी पर सोमवार से शुक्रवार तक दोपहर 1 से 2 बजे तक, 2:30 से 3 बजे तक, 3:30 से 5 बजे तक, 5:30 से 6:30 बजे तक क्लास व विषयवार वीडियो प्रसारित होगा। इसी प्रकार 9वीं व 12वीं के लिए स्वयंप्रभा चैनल-22 पर सोमवार से शुक्रवार तक दिन में 11 बजे से 1 बजे तक व शाम 4:30 से 6:30 बजे तक लेक्चर वीडियो का प्रसारण होगा। डीआईओएस ने बताया कि दोनों चैनल पर प्रसार के लिए निर्धारित समय सारणी का व्यापक प्रचार-प्रसार विद्यालय व अन्य माध्यमों से सुनिश्चित किए जाने का निर्देश दे दिया गया है। 

महीने के अंत में होगा मूल्यांकन

दोनों चैनल के माध्यम से प्रत्येक महीने के अंत में मूल्यांकन के लिए प्रश्न प्रसारित किया जाएगा। छात्र उन प्रश्नों के उत्तर व्हाट्सएप के माध्यम से अध्यापकों को भेजेंगे। व्हाट्सएप से जो नहीं भेज सकते उनके लिए विद्यालय में कक्षावार ड्रॉपबॉक्स की व्यवस्था होगी, जिसमें विद्यार्थी या उनका अध्यापक उत्तर डाल सकते हैं। सभी विद्यालय के प्रधानाचार्य और कक्षावार अध्यापक व्यवस्था का सफल संचालन सुनिश्चित कराएं।

कंट्रोल रूम स्थापित, कार्य व दायित्व का निर्धारण

जनपद स्तर पर मॉनिटरिंग के लिए डीआईओएस ने कंट्रोल रूम स्थापित किया है, जिसके नोडल एडीआईओएस राकेश कुमार (9451934692) होंगे। अन्य किसी जानकारी के लिए प्रधानाचार्य अतुल कुमार (9415254589) तथा कनिष्ठ अध्यापक विशाल गुप्ता (8726172110) से संपर्क किया जा सकता है। कंट्रोल रूम से ही व्यापक प्रचार प्रसार कराने के साथ ट्रेनिंग दी जाएगी। वर्चुअल स्कूल से संबंधित प्रत्येक गतिविधि का संचालन तथा उसका पर्यवेक्षण विद्यालय स्तर पर प्रधानाचार्य की जिम्मेदारी होगी। प्रेसवार्ता में प्रधानाचार्य अतुल कुमार, सुशील श्रीवास्तव संजय यादव आदि थे।

Post a Comment

0 Comments