Book This Side For Ads....Purvanchal24

नेपाल ने छोड़ा पानी, बलिया के घरों में बहने लगी घाघरा ; बढ़ी परेशानी


मनियर, बलिया। नेपाल द्वारा पानी छोड़े जाने के बाद घाघरा नदी उफान पर है। घाघरा नदी खतरे के निशान से काफी ऊपर वह रही है। इसके कारण घाघरा का दियारांचल क्षेत्र तो डूब गया है। उसके बाद नदी का पानी मनियर नगर पंचायत के नाले नालियों के जरिये टीएस बंधे के पुल पुलिया से होते हुए पानी मुड़ियारी दहताल में गिरने से मुड़ियारी दह ताल उफान पर है। 



मुड़ियारी, गौरीशाहपुर, गौरा बंगही, रानीपुर, दुर्गीपुर, छितौनी, देवरार, आदि गांवों में पानी फैल गया है। हजारों एकड़ धान की फसल डूब गई है। दुर्गीपुर गांव के राजभर बस्ती के कई घरों में पानी घुस गया है। दुर्गीपुर गांव के मोती चंद चौहान, शिव जी चौहान, गुलाब चौहान, अपने घरों के समान समेट कर व पिकअप लादकर अपने रिश्तेदारों के यहां शरण लेने के लिए चले गए हैं। 



वहीं राम प्रवीन, राम आसरे, मुन्ना, किशोर, हरदेव, रामदेव, श्याम देव, मुक्ति नाथ, रामाशंकर, हरिशंकर, लक्षन, रामजीत,इंद्रदेव, चंद्रमा, रामजी, योगी,  शिव मंगल, राज मंगल, जय मंगल, राजेन्द्र गोंड़ आदि राजभर बस्ती के लोग अपने मवेशियों को लेकर प्राथमिक विद्यालय व पक्का कुएं पर शरण लिए हैं। प्रशासन की तरफ से नाव की व्यवस्था घरों से समान निकालने के लिए किया गया है। इसके अतिरिक्त उनको किसी प्रकार की राहत नहीं मिली है।



ग्रामीणों ने बताया कि हम लोगों के जीवन में पहली बार इतना पानी बढ़ा है। इसके कारण हम लोग के घरों में  5 फीट से अधिक पानी लग गया है। दुर्गीपुर से मुड़ियारी जाने वाला मार्ग पूरी तरह से डूब गया है। विषैला जंतुओं से खतरा पैदा हो गया है। खादीपुर गांव में घाघरा नदी का पानी रिंग  बंधे से पुर्वइया हवा के चलते लहरों से टकरा रही है, जिसके चलते बंधा कट रहा है जिस पर मरम्मत का कार्य कराया जा रहा है। मौके पर उपजिलाधिकारी बांसडीह दुष्यंत कुमार मौर्या, नायब तहसीलदार अंजू यादव, कोतवाल बांसडीह राजेश सिंह, चौकी इंचार्ज सुल्तानपुर चक्रपाणि मिश्रा व बाढ़ विभाग के अधिकारी सहित आदि लोग मौजूद रहे।


वीरेन्द्र सिंह

Post a Comment

0 Comments