पत्रकार रतन सिंह हत्याकांड : धरनारत पत्रकारों को मिला यह आश्वासन


बलिया। पोस्टमार्टम के बाद पत्रकार रतन सिंह का शव जैसे ही पैतृक आवास पहुंचा, कोहराम मच गया। खुशमिजाज व हर दिल अजीज रतन की हत्या से गम और गुस्सा का माहौल था। पिता विनोद सिंह पत्रकार बेटे के शव के साथ घर के सामने धरने पर बैठे थे।


पिता, पुलिस से काफी नाराज थे। वे पुलिस की कहानी को झूठा बता रहे थे। वही, पत्रकार भी धरना पर थे। पत्रकार पीड़ित परिवार को 50 लाख और पत्नी को सरकारी नौकरी देने की मांग कर रहे थे। 


इस बीच, पहुंचे एडीएम ने मांग पत्र लेकर बताया कि 10 लाख नगद व पांच लाख किसान बीमा के तहत पीड़ित परिवार को तत्काल सहायता दी जाएगी। 50 लाख और पत्नी को सरकारी नौकरी के मामले में शासन को पत्र लिखा जायेगा। एडीएम ने कहा कि  कमिश्नर के निर्देश पर पत्नी को एक माह के अंदर स्वास्थ्य विभाग में संविदा पर नौकरी उपलब्ध कराई जाएगी। फ़िर शासन के निर्देश के अनुसार कार्यवाही होगी। 

Post a Comment

0 Comments