...जब हवालात में बंद मालिक को छुड़ाने थाने पहुंचा कुत्ता Ballia News


रेवती, बलिया। 'अहसासे कमतरी होती है कुत्तों से बहुत... जब भी देखता हूं उन्हें, वफा निभाते हुए।' किसी रचनाकार की ये पंक्तियां रविवार को रेवती थाना परिसर में उस समय पूरी तरह सच दिखी, जब अपने मालिक से मुलाकात करने पालतू कुत्ता पहुंच गया। यही नहीं, हवालात में बंद अपने मालिक के करीब जाने को वह बेताब था। कुत्ते की इस वफादारी को देख, हर किसी कि जुबां से एक ही आवाज निकल रही थी, धन्य है तू। 

मालूम हो कि रेवती थाना क्षेत्र के गायघाट निवासी राघवेन्द्र प्रताप सिंह (20) का शव शुक्रवार को ईंट भट्ठे के गड्ढ़े में मिला था। मामले में मृतक के पिता उपेन्द्र सिंह की तहरीर पर रेवती पुलिस ने गायघाट के प्रधान प्रतिनिधि विजय प्रताप सिंह समेत पांच लोगों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज किया। पुलिस ने प्रधान प्रतिनिधि समेत चार को गिरफ्तार भी कर लिया। इसी बीच, रविवार को गांव की सैकड़ों महिलाओं के साथ प्रधान श्रीमती मीनू सिंह थाने पहुंच गई। 

महिलाओं ने आरोप लगाया कि गुरुवार को रेवती निवासी एक व्यक्ति की बाइक छिनैती में चार लोग थे, जिसमें एक राघवेन्द्र भी शामिल था। घटना के कुछ ही देर के अंदर रेवती के लोगों ने एक युवक और छिनैती हुई बाइक को पकड़ कर पुलिस को सौंपा था। छिनैती में शामिल लोग ही राघवेंद्र के हत्यारे है। राजनैतिक द्वेषवश मेरे पति को आरोपी बनाया जा रहा हैं। ग्रामीणों ने जिस युवक को पकड़कर पुलिस के हवाले किया था, आखिर वह कहां है ? ऐसे वक्त पर पुलिस की निष्पक्ष जांच आवश्यक है, ताकि निर्दोष को न्याय मिले और वास्तविक हत्यारें सामने आए।

महिलाओं के प्रदर्शन के दौरान अचानक लोगों की नजर एक कुत्ते पर पड़ी, जो हवालात में बंद प्रधान प्रतिनिथि के करीब जाने को परेशान था। पता चला कि वह कुत्ता प्रधान प्रतिनिधि का पालतू है। वह भी महिलाओं के साथ चला आया था। मालिक के प्रति कुत्ते की दरियादिल्ली देख, बेजुबानों की वफादारी लोगों की जुबां पर तैरने लगी। हालांकि पुलिस ने प्रधान प्रतिनिधि समेत चार को चालान न्यायालय कर दिया। 


पुष्पेन्द्र तिवारी 'सिन्धु'



Post a Comment

0 Comments