बलिया पुलिस का संदेश : शराब का धंधा करने वाले बदल ले अपना 'नजरिया', क्योंकि...


रेवती, बलिया। अवैध कच्ची शराब के विरूद्ध औचक छापेमारी से इतर रेवती पुलिस का 'नजरिया' सोमवार का नया दिखा। अब तक छापेमारी व भट्ठी तोड़ों अभियान चलाकर शराब बनाने व बेचने पर रोक लगाने की कोशिश करने वाली रेवती पुलिस ने भाखर (खरिका) गांव में चौपाल लगाई। इसके माध्यम से अवैध शराब के धंधे में लिप्त लोगों को इससे होने वाले नुकसान के बारे में बताया।

सोशल डिस्टेंसिंग के तहत आयोजित चौपाल के दौरान प्रभारी निरीक्षक प्रवीण कुमार सिंह ने कहा कि आप सभी यह धन्धा छोड़कर अलग धन्धे की तालाश करें। समय के साथ अपनी सोच बदलें। अपनी भावी पीढ़ी को शिक्षा से जोड़े, ताकि तरक्की का नया रास्ता बने। इस दौरान कारोबारियों ने धंधा छोड़ने में रोजी रोटी को बाधक बताते हुए कहा कि प्रत्येक परिवार के करीब तीन-चार सदस्यों पर इतने ही मुकदमे दर्ज हैं, जिसकी प्रत्येक माह पैरवी करने में हजारों रुपए खर्च होते हैं। शराब निर्माताओं ने शर्त रखा कि परिजनों पर दर्ज मुकदमा खत्म कराया जाय। हमारी रोजी-रोटी का सरकार प्रबंध करें। एसएचओ ने कहा कि आपकी बातों को उच्चाधिकारियों तक पहुंचाया जायेगा, लेकिन मेरे रहते क्षेत्र में यह धन्धा नहीं होगा।

चौपाल में मौजूद ग्रापए बांसडीह के अध्यक्ष पुष्पेंद्र तिवारी 'सिन्धु' ने कहा कि यह धन्धा आपके प्रगति पथ का बाधक है। समाज में आप सभी की स्थिति क्या है, आप सभी को पता है। ऐसे में आप सब समूह आदि बनाकर विभिन्न कार्य करें। आपकी आवाज सरकार तक पहुंचाया जायेगा। इस मौके पर एसआई गजेन्द्र राय, सूर्यकांत पाण्डेय, मयाशंकर दूबे, आदि ने भी विचार प्रस्तुत किये।


पुष्पेन्द्र तिवारी 'सिन्धु'

Post a Comment

0 Comments