PCS OFFICER मणि मंजरी राय केस : SP से मिले व्यापारी नेताओं ने रखी ये मांग


बलिया। अखिल भारतीय उद्योग व्यापार मंडल उत्तर प्रदेश के वरिष्ठ प्रदेश उपाध्यक्ष व पूर्वांचल प्रभारी अरविंद गांधी के नेतृत्व में एक प्रतिनिधि मंडल पुलिस अधीक्षक से मंगलवार को मिला। प्रतिनिधि मंडल ने ज्ञापन सौंपकर पुलिस अधीक्षक विभिन्न मांगें की। साथ ही मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश, प्रमुख सचिव (गृह) उत्तर प्रदेश, पुलिस महानिदेशक उत्तर प्रदेश, अपर पुलिस निदेशक वाराणसी व डीआईजी आजमगढ़ को भी ज्ञापन भेजा गया। प्रतिनिधिमंडल में पूर्व चेयरमैन जिला प्रभारी प्रदीप गुप्ता, चेयरमैन बेल्थरारोड दिनेश गुप्ता, चेयरमैन प्रतिनिधि मधुबन शंकर मद्धेशिया, पूर्व चेयरमैन सिकंदरपुर संजय जयसवाल, विजय कुमार गूलर नगर अध्यक्ष बासडीह, युवा जिला अध्यक्ष सतीश कुमार गुप्ता शामिल रहे। 
  

ये है मांग

1-PCS OFFICER मणिमंजारी राय मामले में बैरिया के नायब तहसीलदार रजत सिंह पहले दिन से ही संदिग्ध है, लेकिन अभी तक उनको आरोपी क्यों नहीं बनाया गया।

2-PCS OFFICER मणि मंजरी राय के सुसाइड नोट पर ध्यान देते हुए हुए भी जांच होना चाहिए, क्योंकि दिल्ली और बनारस में वह नौकरी नहीं कर रही थी। नगर पंचायत अधिशासी अधिकारी के रूप में उनकी पहली पोस्टिंग थी। डीआईजी आजमगढ़ भी बयान दे चुके हैं। 

3-PCS OFFICER मणि मंजरी राय का पोस्टमार्टम रिपोर्ट सार्वजनिक किया जाए, ताकि सच्चाई सामने आवे।

4-PCS OFFICER मणि मंजरी राय का आत्महत्या हुआ है या हत्या हुआ है, यह भी जनता में कंफ्यूजन है। स्पष्ट किया जाए, क्योंकि इनके पिता ने पहले दिन कहा था कि उसकी हत्या करके टांग दिया गया है।

5-एफआईआर में जिस टेंडर की बात हो रही है, वह अधिशासी अधिकारी मणि मंजरी राय और चेयरमैन भीम गुप्ता के हस्ताक्षर से 6 जून 2020 को ही निरस्त कर दिया गया है। उसके बाद जो भी टेंडर हुआ है, जेम पोर्टल से हुआ है। इसका कार्यालय के सीसी कैमरे में सबूत है, जांच किया जाए।

6-PCS OFFICER मणिमंजारी राय, नायब तहसीलदार रजत सिंह और ड्राइवर चंदन वर्मा का कॉल डिटेल, सीडीआर और रिकॉर्डिंग वार्तालाप का आ जाए तो मामला क्लियर हो जाएगा।

7-एफआईआर में शामिल भीम गुप्ता, विनोद सिंह, अखिलेश कुमार, चंदन वर्मा के अलावा अन्य जो लोग हैं, उन पर क्या कार्रवाई हुई ? सार्वजनिक किया जाए।

8-PCS OFFICER मणि मंजरी राय की सहेली डॉक्टर ने फेसबुक वॉल पर शादी एवं दोस्त चुनने के संबंध में कुछ बात लिखी है, उसकी भी जांच की जाए।

9-पुलिस द्वारा अन्य अधिकारियों को भी नोटिस जारी किया गया था। पूछताछ में क्या हुआ, इसे भी सार्वजनिक किया जाए, ताकि जनता को सच्चाई सामने आवे।

Post a Comment

0 Comments