किल कोरोना : बलिया में 25 टीमें सक्रिय, इस तरह होगी सैम्पलिंग और...


बलिया। शहर को कोरोना से मुक्ति दिलाने के लिए तीन दिन तक चलने वाले 'किल कोरोना' अभियान का शुभारंभ जिलाधिकारी श्रीहरि प्रताप शाही ने सोमवार को किया। इसके लिए बनाई गई 25 टीमों को कलेक्ट्रेट सभागार से हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। ये सभी टीमें जरूरी दवाओं की किट, पीपीई व रैपिड किट से लैस रहेंगी।

रवाना करने से पहले जिलाधिकारी ने सभी टीम के सदस्यों को जरूरी दिशा-निर्देश दिए। कहा, यह तीन दिन का अभियान बहुत ही महत्वपूर्ण अभियान है। इस अभियान में अगर हम सबने मिलकर गंभीरता के साथ कार्य किया तो सुखद परिणाम सामने आएंगे। रैपिड किट के जरिए जांच होगी और रिपोर्ट तुरंत मिल जाएगी। कहा कि करीब दस दिन पहले शहर में डोर-टू-डोर सर्वे हुआ, जिसमें तरह-तरह के लोग चिन्हित हुए। उनकी सैम्पलिंग पर विशेष जोर होगा।

अधिक मरोजों को आइसोलेट करने का पुख्ता इंतज़ाम

ऐसी संभावना जाहिर की जा रही है कि किल कोरोना अभियान में ज्यादा से ज्यादा पॉजिटिव मरीज निकल कर सामने आएंगे। इसलिए एक ही बार में अधिक से अधिक मरीजों को आइसोलेट करने की पूरी तैयारी कर ली गयी है। पर्याप्त बेड उपलब्ध हैं। जिलाधिकारी ने कहा कि बन्दी के दौरान ही इस एक्सरसाइज को करने का मौका है। यही फाइनल एक्सरसाइज होगी। अगर यह सफल हो गया तो शहर में कोरोना पर हम काबू कर लेंगे। 

इस तरह होगी सैम्पलिंग

सैम्पल लेने के दौरान कोई भी लैब टेक्नीशियन या लैब असिस्टेंट पीपीई किट पहन कर ज्यादा देर तक नहीं रह सकता है। इसलिए सर्वेक्षण के बाद एक मुहल्ले के चिन्हित लोगों को एकत्र कर लेना है। फिर एक साथ सबकी सैंपलिंग हो जाएगी और तत्काल रिपोर्ट भी मिल जाएगी। सैम्पल लेने वाले को एक दिन के लिए तीन किट दिए जाएंगे। एक किट पहन कर 25-30 लोगों के सैम्पल ले लेंगे। उसके थोड़ी देर बाद अन्य लोकेशन में यह कार्य किया जाएगा।

दस एंबुलेंस इसी अभियान के लिए रिजर्व

जिलाधिकरी ने बताया कि हर टीम को 3 पीपीई किट व 50 रैपिड एंटीजन किट की गई है। दस एम्बुलेंस रिजर्व इसी कार्य के लिए लगी है। जैसे ही कोई पॉजिटिव आएगा, एसीएमओ डॉ एसके तिवारी को सूचित किया जाएगा और तत्काल उसको एम्बुलेंस से लाकर आइसोलेट किया जाएगा। 

बलिया पर है सबका ध्यान, नियंत्रण जरूरी

जिलाधिकारी ने कहा कि बलिया में कोरोना के बढ़ते मामले चिंता का विषय है। पहले यह स्थिति लखनऊ में थी, पर अब तेजी से बढ़ते मामलों में बलिया ऊपर आ गया है। इसमें आधे से अधिक मामले अकेले बलिया शहर में आए हैं। इसलिए शहर में यह विशेष अभियान चलाया जा रहा है। पूरी टीम गंभीरता से कार्य करें और पॉजिटिव व्यक्तियों को चिन्हित कर आइसोलेट कर दिया जाए तो निश्चित रूप से इस पर अंकुश लगने की संभावना को बल मिलेगा। 

एक दिन में हो हजार से अधिक टेस्ट

टीम को अपना संदेश देते हुए जिलाधिकारी ने कहा कि किसी भी तरह कोरोना की चेन तोड़ना है। किल कोरोना अभियान में एक टीम को एक दिन में कम से कम 50 या इससे अधिक जांच करना है। एक दिन में हजार से ऊपर एंटीजन टेस्ट होना चाहिए। अगर स्थित सामान्य हुई तो इसका श्रेय इसी टीम को जाएगा। जनपदवासी इन कोरोना वारियर्स के आभारी रहेंगे। उन्होंने बताया कि इसी अभियान के लिए बन्दी को 21 से बढ़कर 22 जुलाई तक कर दिया गया है। 

टॉप-3 टीम को सराहा जाएगा, कम टेस्ट पर होगा सवाल

इस अभियान की समीक्षा के लिए अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा एसके तिवारी को प्रभारी बनाया गया है। वह प्रत्येक टीम के कार्यों पर नजर रखेंगे और उसकी हर घंटे की रिपोर्ट तैयार करेंगे। शाम को हर दिन के कार्यों की प्रगति से जिलाधिकारी को अवगत कराएंगे। डीएम ने कहा कि टॉप 3 टीम को सराहा जाएगा, वहीं सबसे कम टेस्ट करने वाली 3 टीमों से सवाल भी किया जाएगा।

Post a Comment

0 Comments