कोरोना से जंग को बलिया के युवक का बड़ा ऐलान


बलिया। कोरोना वायरस का प्रकोप दिन दूना रात चौगुना बढ़ रहा है। वहीं इस वायरस को मात देने के लिए दुनियाभर के वैज्ञानिक शोध भी कर रहे हैं। पर सही वैक्सीन के विकास के  लिए इसका इंसान पर परीक्षण करना भी जरूरी है। एक तरफ लोग जहां कोरोना से भयाक्रांत हैं, वहीं दूसरों की जान बचाने के लिए अपने जीवन की बाजी लगाने वाले भी कम नहीं हैं। सर्वजन हिताय के लिए जान जोखिम में डालने वालों में एक हैं भानु प्रकाश सिंह। 

सिकन्दरपुर तहसील क्षेत्र के ग्रामसभा पूर निवासी भानु प्रकाश ने बाकायदा प्रधानमंत्री को ट्विटर कर कोविड 19 के परीक्षण के लिए देहदान करने के अपने निर्णय से अवगत कराते हुए इसकी अनुमति भी मांगी है। ध्रुवजी सेवा समिति के बतौर सचिव के रूप में  सामाजिक कार्यों में सदैव सक्रिय रहने वाले भानु सिंह ने  रविवार को पीएम, सीएम, परिवार और स्वास्थ्य कल्याण मंत्री समेत भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान के महानिदेशक  को पत्र भेजकर राष्ट्रहित में खुद  को समर्पित करने के निर्णय से अवगत कराया। 

पिछले सितम्बर में अपने जन्मदिन पर चिकित्सकीय शिक्षा और अनुसंधान हेतु बीएचयू को देहदान करने की घोषणा कर चुके भानु प्रकाश ने बताया कि कोविड 19 के प्रकोप से पूरी दुनिया त्रस्त है। प्रत्येक दिन लाखों लोग इस महामारी से संक्रमित और हजारों लोग बेमौत मारे जा रहे हैं। देश के नागरिक होने के नाते राष्ट्रहित में यदि वायरस कोविड-19 महामारी की वैक्सीन परीक्षण व शोध के लिए मानव शरीर की आवश्यकता पड़ती है, तो वह खुद को समर्पित करने के लिए तैयार हैं। साथ ही परीक्षण के दौरान होने वाली किसी भी प्रकार की शारीरिक हानि के लिए स्वयं को जिम्मेदार मानने की बात भी कही है। बताया कि यह सत्य है कि भारत समेत कई देश के विज्ञानी इस महामारी के  इलाज के लिए लगातार शोध कर रहे हैं। इस कार्य में सहयोग के लिए मैं अपना एक छोटा सा योगदान देना चाहता हूं।

Post a Comment

0 Comments