CHC से लौटते वक्त राज्यमंत्री को मिली यह शिकायत, फिर...


बलिया। संसदीय कार्य राज्यमंत्री आनंद स्वरूप शुक्ला ने सोमवार को बाढ़ की स्थिति का जायजा लिया। उन्होंने महावीर घाट से आगे बढ़ते हुए श्रीरामपुर घाट तक गए और बाढ़ की स्थिति की जानकारी संबंधित अधिकारियों से ली। इस दौरान उन्होंने रिंग बंधे को भी दुरुस्त रखने पर जोर दिया।

मंत्री श्री शुक्ला ने कहा कि पानी अब बढ़ रहा है। पहले से ही बाढ़ विभाग इसकी पूरी तैयारी कर ले। उन्होंने राजस्व महकमे को भी निर्देश दिया है कि नाव की व्यवस्था व अन्य इंतजाम पहले से ही कर लिया जाए। पानी बढ़ने की दशा में लोगों को राहत दिलाने में किसी प्रकार की अफरातफरी नहीं होनी चाहिए। उन्होंने साफ किया है कि अगर विभागीय लापरवाही से लोगों को दिक्कत हुई तो इसके लिए जवाबदेही भी तय की जाएगी। बाढ़ विभाग के अभियंताओं को कहा कि रिंग बंधे की सुरक्षा पर भी विशेष ध्यान होना चाहिए। अगर कहीं किसी जानवर द्वारा बिल (मांद) कर दी गई है तो उसको अभी ठीक कर लिया जाए।

सीएचसी दुबहड़ का औचक निरीक्षण

क्षेत्र भ्रमण के दौरान राज्य मंत्री आनंद स्वरूप शुक्ला अचानक सीएचसी दुबहड़ पर धमक गए। हाजिरी रजिस्टर व अन्य अभिलेखों को देखा। प्रभारी को निर्देश दिया कि अस्पताल की व्यवस्था हमेशा दुरुस्त रखें। कोरोना महामारी पर अंकुश लगाने के लिए सरकार प्रभावी कदम उठा रही है लेकिन आम स्वास्थ्य सेवाएं भी जनता तक बेहतर ढंग से पहुंचाना सुनिश्चित कराएं।

दुबहड़ एसओ को चेतावनी

दुबहड़ सीएचसी के निरीक्षण करने के बाद वहां से वापस लौटते समय कुछ छात्रनेताओं व आम जनता ने क्षेत्र में गोवंश तस्करी की शिकायत की। इस पर मंत्री शुक्ला ने दुबहड़ थानाध्यक्ष से सवाल किया। चेतावनी दी कि इस पर कड़ी नजर रखें। आगे से ऐसी शिकायत मिली और उसका कोई ठोस सबूत मिला तो उसके गम्भीर परिणाम भुगतने पड़ेंगे।

Post a Comment

1 Comments