भारत की सरजमीं आज चूमेगा राफेल, बलिया के इस गांव में आतिशबाजी शुरू ; देखें पूरी खबर


बलिया। फ्रांस से आ रहे राफेल का स्वागत करने के लिए पूरा देश उत्सुक है। इस बीच, बलिया के एक गांव में जश्न का माहौल है। लोग एक-दूसरे को बधाई दे रहे है। सभी अपने-अपने अंदाज में खुशियां मना रहे है। बुधवार को गांव में जहां भी दो-चार लोग 'गपड़ पंचायत' में दिखे, उनकी चर्चाओं में गांव का लाल मनीष ही रहा। 

हम बात कर रहे है यूपी के अंतिम छोर पर स्थित बलिया जनपद के बंकवा गांव की। बांसडीह तहसील क्षेत्र के इस गांव के लाल मनीष सिंह भारतीय वायु सेना में विंग कमांडर है, जो लड़ाकू विमान राफेल लेकर फ्रांस से आज (29 जुलाई) भारत पहुंचने वाले है। इस बात की जानकारी होते ही कि, उनका मनीष देश के उन नामचीन पायलटों में शामिल हैं, जिन्होंने फ्रांस से राफेल लेकर भारत के लिए उड़ान भरी हैं। फिर क्या था न सिर्फ बंकवा, बल्कि बागी धरती खुशी से झूम उठी है। 

          गांव में आतिशबाजी करते युवा

भारतीय थल सेना से रिटायर्ड बकवां गांव निवासी मदन सिंह के पुत्र मनीष सिंह भारतीय वायु सेना में वर्ष 2002 में बतौर पायलट शामिल हुए। अंबाला व जामनगर के बाद दो वर्ष 2017-2018 में इनकी तैनाती गोरखपुर में थी। फ्रांस से लड़ाकू विमान राफेल की डील के बाद मनीष को प्रशिक्षण के लिए भारत सरकार ने फ्रांस भेजा। इनके साथ अन्य विंग कमांडर भी रहे। फ्रांस से उड़ान भरने से पहले मनीष ने पिता मदन सिंह को बताया कि वह शीघ्र ही राफेल लेकर भारत आने वाले है। मनीष के छोटे भाई अनीश ने बताया कि भइया को छह माह के प्रशिक्षण के लिए फ्रांस भेजा गया था। लॉकडाउन होने से तीन महीने और वहां रूकना पड़ा। 

फौजी पिता बोले-देश के लिए गर्व की बात

राफेल ला रहे पायलट्स ग्रुप में शामिल मनीष सिंह का विवाह वर्ष 2014 में लखनऊ की कंप्यूटर इंजीनियर वृत्तिका सिंह से हुआ था। इनका एक सात वर्षीय पुत्र काविन सिंह हैं। मनीष सिंह के पिता मदन सिंह व मां उर्मिला देवी बेटे की इस उपलब्धि पर बहुत खुश है। कहा, यह मेरे लिए नहीं, बल्कि पूरे देश के लिए गर्व की बात है। वहीं छोटी बहन प्रियंका और अंकिता भी काफी खुश नजर आईं।

Post a Comment

0 Comments