बढ़ा मान : अंतरराष्ट्रीय स्तर पर चमके बलिया के सौरभ प्रताप सिंह


बलिया। विश्व की प्रतिष्ठित यूनिवर्सिटी हॉर्वर्ड में दाखिला पाकर सौरभ प्रताप सिंह ने न सिर्फ घर-परिवार, बल्कि बागी बलिया को गौरवान्वित करने का काम किया है। यही नहीं, RBI में सहायक महाप्रबंधक के पद पर कार्यरत सौरभ का चयन हॉर्वर्ड के अलावा कोलंबिया यूनिवर्सिटी और यूनिवर्सिटी ऑफ मिशिगन में भी हुआ है। सौरभ ने अपनी सफलता का श्रेय माता, पिता एवं अन्य परिजन के आशीर्वाद तथा अपने विद्यालय की शिक्षा, अनुशासन और संस्कार को दिया है।

गड़वार थाना क्षेत्र के बड़सरी गांव निवासी स्व. जगत नारायण सिंह के पुत्र सौरभ प्रताप सिंह की  सफलता की शुरुआत 2019 में फुलब्राइट फेलोशिप से हुई थी। फुलब्राइट फेलोशिप विश्व की प्रतिष्ठित फेलोशिप मानी जाती है। इसके अंतर्गत चयनित प्रतिभावान अभ्यर्थियों को अमेरिका सरकार की तरफ से वहां के किसी यूनिवर्सिटी में पढ़ने के लिए तकरीबन 50-60 लाख रुपए तक की स्कॉलरशिप दी जाती है। इस प्रतिष्ठित फेलोशिप को पाने के लिए आईएएस, आईपीएस समेत देश के प्रतिभावानों में होड़ रहती है।


...तब गोल्डमेडलिस्ट रहे सौरभ

जिले के नागाजी सरस्वती विद्या मंदिर से प्रारम्भिक शिक्षा पूरी कर सौरभ ने दिल्ली University में दाखिला लिया। वहां से अर्थशास्त्र में स्नातक तथा सीएटी-2009 की परीक्षा में 99.7 प्रतिशत अंक हासिल करने के बाद सौरभ ने आईआईएम से एमबीए किया। मेधा के धनी सौरभ वहां गोल्डमेडलिस्ट रहे। यहीं से उनका चयन रिजर्व बैंक में हो गया था। सौरभ ने बलिया समेत पूर्वांचल के 5-6 जिलों के अग्रणी जिला अधिकारी के तौर पर कार्य किया।

स्व-प्रेरणा से प्रोजेक्ट इम्पैक्ट को खूब मिली सराहना

इस बीच सौरभ ने शिक्षा में सुधार के लिए स्व-प्रेरणा से प्रोजेक्ट इम्पैक्ट की शुरुआत की, जिसे प्रदेश के राज्यपाल, उपमुख्यमंत्री और देश के एचआरडी मंत्री सहित तमाम शिक्षाविदों ने सराहा। सौरभ के अनुसार, हॉर्वर्ड या अन्य अंतर्राष्ट्रीय विश्वविद्यालयों में चयन में शैक्षणिक योग्यता के अतिरिक्त प्रोजेक्ट इम्पैक्ट व आरबीआई में उनके समृद्ध अनुभव तथा समाज के प्रति संवेदनशीलता बड़ा कारक रहा हैं। 

Post a Comment

0 Comments