भाजपा विधायक पर सपा नेता मनोज सिंह ने इस बात पर कसा तंज


बैरिया, बलिया। सूबे में भाजपा की पूर्ण बहुत की सरकार होने के बाद बैरिया विधायक द्वारा मुख्यमन्त्री को बिजली और अवैध शराब की रोक के लिए पत्र लिखना सपा को हास्यास्पद लग रहा है। इसको लेकर सपा नेता मनोज सिंह ने बैरिया विधायक पर न सिर्फ तंज कसा, बल्कि कई गम्भीर आरोप भी लगाया।

बैरिया स्थित अपने आवास पर पत्रकारों से बातचीत में सपा नेता ने कहा कि विधायक जी ने बिजली को लेकर 22 वर्ष पूर्व लगे तार व बिजली दो तीन घन्टे आपूर्ति होना तथा रेवती थाना क्षेत्र के झरकटहा, भाखर में अवैध शराब का निर्माण व बिक्री रोकने की मांग मुख्यमन्त्री को पत्र लिखकर की है। यह बहुत सोचनीय है, क्योंकि जनता ने विधान सभा में सवाल उठाने के लिए उन्हे विधायक बनाया है न कि विपक्ष की तरह पत्र लिखने के लिए ? वही, बैरिया के दयाछपरा में भी अवैध शराब बन व बिक रहा है, लेकिन इसका जिक्र तक नहीं। 

श्री सिंह ने कहा कि सपा सरकार में 16 घन्टे बिजली मिलती थी। आज तक पुराना तार बदलने के लिए विधायक ने क्यों नही विधान सभा में सवाल किया। विधायक का एक मात्र कार्य कमीशनखोरी व उठापटक और उलूल जूलूल बयान देकर चर्चा में रहना हो गया है।बैरिया में अवैध शराब तो कुटीर उद्योग बन गया है। दूबे छपरा में 30 करोड़ की लागत से रिंगबांध का बनना व पिछले वर्ष बह जाना इसके बाद उसी कम्पनी को कटानरोधी कार्य देना, क्या विधायक पर कमीशनखोरी सिद्ध नही करता ? आखिर क्यों उसी कम्पनी को कार्य दिया गया? इसका विरोध विधायक ने क्यों नहीं किया ? इस पर भी विधान सभा में सवाल उठाना चाहिए। 

अठगांवा, नौरंगा, ड्रेजिंग कार्य, दूबेछपरा का कटानरोधी कार्य समय से होना चाहिए था, अब तो जलस्तर में वृद्धि हो रही है, जो भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ जायेगा। लाल बालू के अभाव में एक लाख बीस हजार सरकारी आवास नही बन पा रहे है। शिवपुर कपूर दियर और गोपाल नगर में कटान हो रहा है, वहां कोई पूछने वाला नही है। इस सरकार मे शराब की दुकान पर छूट और गरीब सब्जी की दुकानदारों पर कार्यवायी आखिर क्या साबित कर रहा है। श्री सिह ने जोर देकर कहा कि अगर कटानरोधी कार्य पन्द्रह दिन मे पूरा नही होगा तो दूबे छपरा में अपने समर्थको के साथ आमरण अनशन करूंगा।


शिवदयाल पांडेय 'मनन'

Post a Comment

0 Comments