धोखे से दारोगा ने रचाई शादी, अब न्‍याय के लिए भटक रही युवती


आगरा। एक दारोगा पर छह माह पहले सिकंदरा थाने में दर्ज धोखाधड़ी के मामले में पीड़िता ने पुलिस पर लीपापोती का आरोप लगाया है। कहा है कि मामला विभाग का होने के चलते पुलिस आरोपित की मदद कर रही है। उसकी जानकारी के बिना विवेचना दूसरे थाने को दे दी गयी। 

सिकंदरा क्षेत्र निवासी युवती ने सदर थाने मे तैनात दारोगा संजय कुमार के खिलाफ शारीरिक और मानसिक शोषण एवं धोखाधड़ी के आरोप में मुकदमा दर्ज कराया था। आरोप है कि दारोगा ने दो वर्ष पूर्व उससे प्यार का नाटक करके अपने जाल में फांस लिया। उससे शादी कर ली। शारीरिक और मानसिक शोषण किया। कई महीने बाद उसे पता चला कि दराेगा शादीशुदा है। अपने साथ धोखाधड़ी का पता चलने पर उसने पिछले वर्ष दो दिसंबर को सिकंदरा थाने में दारोगा के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया।

आरोप है कि पुलिस सात महीने से विवेचना के नाम पर लीपापोती कर ही है। अब तक कई विवेचक बदल चुके हैं। पिछले सप्ताह उसे पता चला कि विवेचना एत्माद्दौला थाने स्थानांतरित कर दी गयी है। मुकदमे की वादी होने के बावजूद उसे इसकी जानकारी तक नहीं दी गयी। युवती ने एसएसपी के यहां निष्पक्ष विवेचना की गुहार लगायी। 


Post a Comment

0 Comments