अधिकारी बन करते थे ठगी, पुलिस ने पांच को दबोचा


लखनऊ। सिविल लाइन थाना पुलिस ने गिरोह के पांच शातिर सदस्यों को गिरफ्तार किया है। इनके पास से फर्जी आइडी कार्ड, मोहर, फर्जी दस्तावेज, इनोवा गाड़ी, एक राइफल व तमंचा भी बरामद किया गया है। ये सभी फर्जी आइआरएस सेवा और रॉ अधिकारी बनकर ठगी करने का काम करते है। पुलिस पूछताछ करके गिरोह के अन्य सदस्यों के बाबत जानकारी जुटा रही है। 

एसएसपी आकाश तोमर ने बताया कि पकड़े गए गिरोह के सदस्यों में दो पत्रकार भी शामिल हैं। मनीष निवासी ग्राम जगसौरा-जसवंतनगर, योगेश निवासी ग्राम धनौरा जिला अमरोहा, बलवंत निवासी सरैया रामगढ़-बिहार व रामकुमार राजपूत ग्राम बीलमपुर इकदिल इटावा एवं सौरभ चौहान निवासी पक्का तालाब इटावा को गिरफ्तार किया गया है। 

बताया कि गैंग का सरगना मनीष है, जो सिंडीकेंट बैंक में नौकरी करता था। बैंक में लोन के मामले में दो साल पहले उसे नौकरी से निकाल दिया गया था। इसके बाद वह जनपद में खुद को आइआरएस ऑफिसर यानी भारतीय राजस्व सेवा का अधिकारी बताकर ठगी करता था। नोएडा में भी वह रहा था, जहां पर खुद को रॉ का अधिकारी बताता था। उन्होंने बताया कि सिविल लाइन पुलिस ने पूरे मामले का खुलासा किया है।

Post a Comment

0 Comments