फावड़ा से बेटे को काटकर फेंकने जा रही थी हत्यारिन मां, तभी...


प्रयागराज। फूलपुर कोतवाली क्षेत्र में एक मां ने पांच साल के मासूम को फावड़े से काट डाला गया। मंगलवार की आधी रात को घटना को अंजाम देने के बाद बेटे का रक्‍तरंजित शव लेकर कुएं में डालने जा  की थी, तभी एक लड़की ने देख लिया। शोर मचने पर स्‍वजनों के साथ ग्रामीणों ने हत्‍यारिन मां को पकड़ कर कमरे में बंद कर दिया। पुलिस नेे उसे हिरासत में ले लिया है। इस घटना ने ग्रामीणों और परिवार के सदस्‍यों को हिलाकर रख दिया है।

कोतवाली क्षेत्र के इफको पुलिस चौकी परिधि मे कनौजा कला गांव के जगन्नाथ पटेल की पुत्री रेनू की शादी सराय इनायत थाना क्षेत्र के कसेरूआ कला में है। उसका पति रमेश पटेल निजी वाहन का चालक है। करीब 20 दिन पूर्व रेनू अपने मायके कनौजा कला आई थी। मंगलवार की आधी रात में रेनू ने अपने छोटे पुत्र पांच वर्षीय ऋषि कुमार को फावड़े से काट डाला। इसके बाद बेटे का खून से सना शव लेकर वह पास के कुएं में डालने जा रही थी। इसी दौरान उसकी चचेरी बहन राधिका की नींद खुल गई। राधिका उसके पास गई तो देखा ऋषि काे रक्‍तरंजित देखा तो उसने शोर मचाया। चीख-पुकार सुनकर परिवार के लोगों के साथ ही ग्रामीणों की भी नींद खुल गई। लोग वहां पहुंचे तो अवाक रह गए। खून से लथपथ बेटे को गोद में रेनू लिए हुए थी। रेनू से ऋषि को खींचकर लेने के बाद उसे लेकर फूलपुर निजी अस्पताल में लोग गए। वहां  चिकित्सकों ने हालत गंभीर देख शहर के एसआरएन अस्‍पताल रेफर कर दिया। वहां ले जाते समय रास्‍ते में जाते समय रास्ते में ऋषि ने दम तोड़ दिया। उधर रेनू को ग्रामीणों ने पकड़ कर एक कमरे में बंद कर दिया और सूचना पुलिस को दी गई। पुलिस ने स्‍वजनों और ग्रामीणों से पूछताछ किया। वहीं हत्‍या में प्रयुक्‍त फावड़े को भी पुलिस ने अपने कब्‍जे में ले लिया है। रेनू के भाई निर्भय ने बताया कि पिछले चार वर्ष से रेनू मानसिक रूप से अस्‍वस्‍थ है। उसका इलाज एसआरएन अस्‍पताल में कराया जा रहा है।  

Post a Comment

0 Comments