...तो क्या इस वर्ष बलिया-छपरा के बीच बिछ पायेगी नई रेल लाइन


बैरिया, बलिया। यूपी-बिहार सीमा पर मांझी स्थित घाघरा नदी पर निर्माणाधीन रेल पुल का निर्माण कार्य बहुत कच्छप गति से चल रहा है। इससे ऐसा लगने लगा है कि इस वर्ष तक बलिया-छपरा के बीच नई रेल लाइन बिछाने का काम पूरा नहीं हो पाएगा।

उल्लेखनीय है कि रेलमंत्री ने घोषणा कर रखी है कि इलाहाबाद -छपरा के बीच रेल लाइन के दोहरीकरण का कार्य 2019 के अंत तक पूरा हो जाएगा। इलाहाबाद, वाराणसी, औड़िहार, गाजीपुर आदि क्षेत्रों मेंजहां रेल लाइन का काम तेजी से हो रहा है, वहीं बलिया के पूरब यह कार्य काफी धीमा है। ऊपर से घाघरा नदी पर बनने वाले नए रेल पुल का अभी 25 प्रतिशत कार्य बाकी है। लोगों का कहना है कि जिस गति से यहां रेल पुल के निर्माण का कार्य चल रहा है, उसे देखने से लगता है कि अभी दो वर्ष और लगेंगे यहां पुल का कार्य पूरा होने में। ऐसे में इस वर्ष इस मार्ग के दोहरीकरण की सुविधा को उम्मीद लगाने वाले लोगों को अभी इंतजार करना पड़ेगा।

बकुल्हा, सुरेमनपुर, दलछपरा, रेवती, बांसडीह आदि स्टेशनों के बीच अभी दोहरीकरण के लिए मिट्टी भरने का काम भी शुरू नहीं हो पाया है। ऐसे में नेताओं की यह घोषणा कि 2019 से दोहरीरण का लाभ यहां के लोगों को मिलने लगेगा, गलत साबित होगा। चाहे स्थिति परिस्थिति जो भी हो रेल पुल का निर्माण कार्य को देखने से ऐसा लगता है कि इस साल तक किसी भी हाल में यह कार्य पूरा नहीं हो पाएगा।

शिवदयाल पांडेय 'मनन'

Post a Comment

0 Comments