बलिया : 'डेंजर प्वाइंट' पर पहुंचे BJP सांसद ने अधिकारियों को किया अलर्ट


मझौवां, बलिया। गंगा नदी के निशाने पर आ चुके दूबेछपरा के डेंजर प्वाइंट पर चल रहे कटानरोधी कार्य का निरीक्षण गुरुवार को सांसद वीरेन्द्र सिंह 'मस्त' ने किया। एक्सईएन बाढ़ खण्ड को आगाह करते हुए सांसद ने कहा कि विभाग वारा-न्यारा करने में बदनाम है। मौका है, मानक के अनुरूप कार्य कराकर लगे दाग को धो लीजिये। जनता का पैसा है, धरातल पर दिखना चाहिये। 

निरीक्षण के दौरान सांसद का तेवर काफी सख्त दिखा। यहां की परियोजना का अवलोकन करने के साथ ही विभागीय अधिकारियों से स्पष्ट शब्दों मे कहा कि बचाव कार्य में लापरवाही क्षम्य नहीं होगी। कहा कि पूर्व के पांच वर्षो के बीच शासन के पचासों करोड़ खर्च करने के बाद भी दूबेछपरा रिंग बंधा नदी का प्रहार नहीं झेल पाया। इसके साथ ही विभाग पर काला धब्बा लग गया। मौका है इस बार मानक के अनुरूप बचाव कार्य कराकर दाग को धो लीजिये। अन्यथा की स्थिति में कार्यवाही के लिये तैयार रहें। 

फिर, सांसद का काफिला एनएच-31 के गंगापुर, रामगढ़ पहुंचा, जहां 6 करोड़ 70 लाख की दो परियोजनाओं के अन्तर्गत होने वाले कार्य का निरीक्षण किया। सवाल किया कि जब यहां कि परियोजना का टेंडर प्रक्रिया पूरी हो चुकी है तो कार्य प्रारम्भ होने में देर क्यों ? इस पर विभागीय अधिकारियों ने कहा कि यहां भी जल्द ही कार्य प्रारम्भ हो जाएगा। इस मौके पर भाजपा जिलाध्यक्ष जय प्रकाश साहू, अमिताभ उपाध्याय, श्यामू उपाध्याय, मुक्तेश्वर सिंह, अधिशासी अभियन्ता बाढ़ खण्ड एके श्रीवास्तव, अवर अभियंता प्रशांत गुप्ता, जावेद अहमद आदि थे। 


जनता का है पैसा 

दूबेछपरा में कटानरोधी कार्य के निरीक्षण के दौरान सांसद पूरे रौ मे दिखे। बाढ़ खण्ड के अधिकारियों से स्पष्ट कहा कि वर्षो से कटान का दंश झेल रहे जनपदवासियों की पीड़ा को मुख्यमंत्री पिछले वर्ष खुद अपनी आंखों से देखें और महसूस किये। इस बार बचाव की जितनी परियोजनाएं शासन को प्रेषित की, केहरपुर को छोड़ सब स्वीकृत हो चुकी है। चेताया कि यह पैसा सांसद व विधायक का नही है। जनता के बचाव के लिये आये धन का प्रयोग बचाव कार्य मे ही होना चाहिये।

अधिकारियों से ली जानकारी 

पचरुखिया मौजा में नदी की धारा को मोड़ने के लिये हो रही ड्रेजिंग संबधित जानकारी बैराज खण्ड के अवर अभियंता अमित कुमार सिंह से सांसद ने ली। सांसद ने सवाल किया कि क्या इस कार्य से गांव गंगा के गोद में जाने से बच जाएंगे ?  इतने कम समय में तीन किलोमीटर की दूरी तक का कार्य विभाग पूरा कर लेगा ? इस पर अघिकारियों ने बताया कि तीस जून से पहले नदी तीस मीटर चौड़ा व वाटर लेबल से साढ़े तीन मीटर गहरा खुदाई का काम पूरा कर लिया जाएगा। इस मौके पर जेई जितेंद्र चन्द्र भारती, डीके सिंह, सुनील कुमार राम, सत्येंद्र राय एसएचओ हल्दी इत्यादि मौजूद रहे।

हरेराम यादव

Post a Comment

0 Comments