बलिया : चीन के खिलाफ BJP विधायक का बड़ा बयान


बैरिया, बलिया। भाजपा विधायक सुरेंद्र सिंह ने कहा है कि चीन इस भ्रम में न रहे कि भारत 1962 वाला है। आज आधुनिक भारत 2020 का है। हमारे सैनिकों का मनोबल इतना ऊंचा है कि हमारे एक सैनिक 20-20 चीनी सैनिकों पर भारी पड़ेंगे। भारत नेहरू का भारत नहीं, बल्कि नरेंद्र मोदी जैसे साधक व लौह पुरुष का देश बन गया है। नरेंद्र मोदी हिंदुस्तान के ही नहीं, पूरी दुनिया के नेता हैं। 

विश्व के देशों में उनका सम्मान चाइना को अच्छा नहीं लग रहा है, इसलिए हमेशा वह भारत को परेशान करने की जुगत में लगा रहता है। अगर इस बार चाइना ने भारत के साथ लड़ाई की तो चीन के कई टुकड़ें होंगे, इसका अंदाजा भी उसे नहीं होगा। हमारे सैनिकों का मनोबल काफी ऊंचा हैं। हमारी सरकार ने सेना को पूरी छूट दे रखी है।

इसका उदाहरण एलएसी पर हुई घटना है, जिसमें पूर्व नियोजित ढंग से चीन ने धोखे से हमला कर हमारे वीर सैनिकों को मार दिया, किंतु मरते-मरते हमारे बहादुर सैनिकों ने 43 चीनी सैनिकों को मौत के घाट उतार दिया। हमारा अनुमान है कि चीन का साहस नहीं है कि वह भारत के साथ लड़ाई लड़ेगा। 

पाकिस्तान की चर्चा करते हुए विधायक ने कहा कि जल्द ही गुलाम कश्मीर भारत का अंग होगा। चीन चाहकर भी पाकिस्तान को बचा नहीं पाएगा। हमारे नेता और हमारी फौज दोनों इसके लिए मन बना चुकी है। कहा कि नेपाल के कम्युनिस्ट प्रधानमंत्री की स्थिति ठीक नहीं है। उसके लिए फौज की जरूरत नहीं पड़ेगी। हमारे देश के होमगार्ड व पीआरडी के जवान ही काफी है। 

सुरेंद्र सिंह ने स्पष्ट किया कि नेपाल के साथ सदियों से सामाजिक सरोकार रहे हैं। मर्यादा पुरुषोत्तम राम का ससुराल नेपाल के जनकपुर में है। नेपाल के लोग भारत को बड़े भाई के रूप में मानते है, जानते है। अयोध्या से, काशी से, सोमनाथ से अगर नेपाल के लोगों को वहां की नास्तिक सरकार ने अलग किया तो वहां गृहयुद्ध हो जाएगा, क्योंकि नेपाल की जनता चाहती है कि भारत के साथ उनके संबंध बेहतर रहे।
                                                  
शिवदयाल पांडेय 'मनन'

Post a Comment

0 Comments