बलिया पुलिस को मिली बड़ी सफलता, लूट का माल संग दो गिरफ्तार


हल्दी, बलिया। गंगा पर ड्रेजिंग कार्य में जुटे कर्मचारियों के साथ मारपीट व लूटपाट करने के मामले में शनिवार की रात हल्दी पुलिस को बड़ी सफलता मिली। पुलिस ने न सिर्फ बिहार के एक गिरोह के दो बदमाशों को गिरफ्तार किया, बल्कि लूट का सामान भी बरामद कर लिया।

हल्दी थाना क्षेत्र के गंगा पार पचरुखिया मौजे में ड्रेजिंग कार्य करा रही कंपनी की साइट पर 7 जून की देर रात दर्जनभर असलहाधारी बदमाशों ने धावा बोल कर लूटपाट किया था। विरोध करने पर कंपनी के कर्मचारियों व जेसीबी के आपरेटरों की बेरहमी से पिटाई भी की थी। हल्दी पुलिस धारा 395, 412 आईपीसी दर्ज कर छान-बीन कर रही थी। बिहार में सुराग ढूंढते हुए कई दिनों से दबीश दे रही थी। शनिवार को मुखबिर से सूचना पर थानाध्यक्ष हल्दी सत्येन्द्र कुमार राय त्वरित कार्यवाही करते हुए रात में पुलिस टीम के साथ घेराबंदी कर दी। इस दौरान दो लोगों को पकड़ा गया।

लूट का माल बरामद, दो गिरफ्तार

पुलिस ने मौके से दो देसी तमंचा 315 बोर, चार जिंदा कारतूस, डकैती के दो मोबाइल, तीन ड्रम डीजल (300ली), दो गैस सिलेंडर मय रेगुलेटर, एक बैटरी, दो पिट्ठू बैग कपड़ों के साथ, एक बाल्टी ग्रीस, एक गैस चूल्हा डबल, एक गैस चूल्हा सिंगल तथा 4750/ रुपया नगद बरामद किया। पकड़े गए अभियुक्तों को पुलिस ने थाने लाकर पूछ-ताछ की तो एक ने अपना नाम प्रभुनाथ पुत्र श्रीराम यादव (निवासी नन्दलाल के डेरा, लालू डेरा, थाना शाहपुर, जिला भोजपुर, बिहार) तथा दूसरे ने नारायण यादव पुत्र कामता यादव (निवासी सईया के डेरा, थाना शाहपुर, जिला भोजपुर, बिहार) बताया। 

जल्द पकड़े जायेंगे और : थानाध्यक्ष

थानाध्यक्ष सत्येन्द्र कुमार राय ने बताया कि अभी आठ लोग गिरफ्त से बाहर है। दबिश दी जा रही है। जल्द ही उन्हें भी पकड़ लिया जाएगा। इन सभी के खिलाफ बिहार के कई थानों में मुकदमे पंजीकृत है। दोनों अभियुक्तों को धारा 3/25 आर्म्स एक्ट के तहत मुकदमा पंजीकृत कर न्यायालय भेज दिया। 

ये रही गिरफ्तार करने वाली टीम 

पुलिस टीम में उप निरीक्षक राघव राम यादव, कांस्टेबल जगजीवन राम, कांस्टेबल दुर्ग विजय, चालक राम सिंह, उप निरीक्षक राजकुमार सिंह (प्रभारी स्काट टीम), उपनिरीक्षक संजय सरोज, हेड कांस्टेबल श्याम सुंदर, कांस्टेबल वेद प्रकाश दुबे, कांस्टेबल अनूप सिंह, कांस्टेबल अनिल पटेल, कांस्टेबल विजय राय, कांस्टेबल अतुल सिंह शामिल रहे।


आतीश उपाध्याय

Post a Comment

0 Comments