69000 शिक्षक भर्ती : रडार पर 120 से ज्यादा अंक


प्रयागराज। 69 हजार शिक्षक भर्ती का ऊंट किस करवट बैठेगा, कहना मुश्किल है। परीक्षा में धांधली करने वालों की धरपकड़ करने से पहले एसटीएफ हर बिंदु की जांच कर रही है। वही, 120 से ज्यादा अंक पाने वाले उन अभ्यर्थियों की स्क्रूटनी भी की जा रही हैं, जिनके खिलाफ प्रतियोगी छात्रों ने संगीन आरोप लगाए थे। एक अभ्यर्थी धर्मेंद्र पटेल टॉपरों की सूची में था, जिसे सोरांव पुलिस जेल भेज चुकी है।

69000 सहायक शिक्षक भर्ती में नकल कराने वाले गिरोह का खुलासा होने से पूर्व ही प्रतियोगी छात्रों ने आरोप लगाया था कि डॉ. कृष्ण लाल पटेल और अन्य लोगों ने मिलकर गंगापार व यमुनापार क्षेत्र के 37 अभ्यर्थियों को फर्जीवाड़ा करके ज्यादा अंक दिलाए हैं। इन्हें 120 से लेकर 144 नंबर तक मिले हैं। सोरांव पुलिस की जांच में प्रतियोगी छात्रों के आरोप भी सच साबित हुए। दो अभ्यर्थी पकड़े गए जिसमें आरोपी धर्मेंद्र पटेल के 142 अंक थे। सोरांव पुलिस को फर्जीवाड़ा करने वाले आरोपियों के पास एक डायरी भी मिली थी, जिसमें 20 अभ्यर्थियों के नाम और डिटेल थी।

ऐसे में एसटीएफ इस बिंदु पर भी जांच कर रही है कि क्या प्रतियोगी छात्रों के लगाए आरोप सही हैं? एसटीएफ यह भी पता करने में लगी है कि कौन-कौन अभ्यर्थी हैं, जिन्हें नकल माफियाओं की मिलीभगत से ज्यादा अंक मिले हैं। इस काम के लिए सबसे पहले एसटीएफ 120 अंक से ज्यादा पाने वाले अभ्यर्थियों की स्क्रूटनी कर रही है। पता लगा रही है कि टॉपरों के सूची में कौन-कौन अभ्यर्थी हैं और कहां के हैं।



Post a Comment

0 Comments