'शिक्षक संकुल' गठित कर क्रियाशील बनाने का निर्देश, यह होगी पात्रता


लखनऊ। न्याय पंचायत स्तर पर शिक्षक संकुल के गठन संबंधी शासनादेश मार्च में होने के उपरांत अभी तक संकुल सदस्यों के चयन में अपेक्षित प्रगति प्राप्त नहीं हो पाई है। जबकि लॉक डाउन के दौरान मिशन प्रेरणा की ई पाठशाला के संचालन एवं अकादमिक कार्यों की प्लानिंग में शिक्षक संकुल का महत्वपूर्ण योगदान हो सकता है। इस दिशा में शासन ने सभी बेसिक शिक्षा अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिया है।

अपर राज्य परियोजना निदेशक (समग्र शिक्षा) सत्येंद्र कुमार ने शासनादेश को ध्यान से देखकर प्रत्येक ब्लॉक में कार्यरत एआरपी के माध्यम से विभिन्न मानकों में बेहतर कार्य करने वाले प्रत्येक न्याय पंचायत में पांच शिक्षकों को चिह्नित कराकर खंड शिक्षा अधिकारी से अनुमोदित कराते हुए अगले 10 दिन के अंदर शिक्षक संकुल को क्रियाशील बनाने का निर्देश दिया है।

इसमें किसी भी प्रकार की परीक्षा नहीं ली जानी है, केवल मानकों में बेहतर कार्य करने वाले शिक्षकों को चिह्नित करना है। उनकी सूची बीईओ स्तर से अनुमोदित करते हुए बेसिक शिक्षा अधिकारी द्वारा 10 जून से पूर्व परियोजना कार्यालय में उपलब्ध कराना है।



Post a Comment

0 Comments