'इस' सम्मान के लिए बलिया के युवा कवि श्वेतांक सिंह का चयन




बैरिया, बलिया। द्वाबा की माटी पर पैदा हुए चर्चित कवि श्वेतांक कुमार सिंह को महान कवि सुमित्रानंदन पंत की जयंती पर सुमित्रानंदन पंत स्मृति सम्मान से नवाजा गया है। श्री सिंह को यह महत्वपूर्ण सम्मान सुदीर्घ साहित्य सेवा और लगातार संवेदनशील तथा उच्च कोटि की कविता लेखन के लिए प्रदान किया गया है। इसकी सूचना श्री सिंह को नर्मदा प्रकाशन संस्था के प्रमुख ने दूरभाष पर दी। लगभग दो हजार रचनाकारों के बीच से कुछ चुनिंदा साहित्यकारों को इस सम्मान के लिए चुना गया है। माहौल सामान्य होने पर समारोह में इन्हें सम्मानित किया जाएगा।

गौरतलब है कि श्वेतांक की कविताओं के केंद्र में मुख्य रूप से आम आदमी, स्त्रियों और दलितों से जुड़ी समस्याएं रहती हैं। ये अतिशीघ्र काव्य लेखन के लिए प्रसिद्ध है। पिछले कुछ सालों से ये लगातार कविता की दुनिया में सक्रिय हैं। अभी तक कई साहित्यिक पुरस्कारों से विभूषित हो चुके हैं। पूरे देश में कविता लेखन में इन्होंने अपनी उपस्थिति मजबूती से दर्ज की है। 

मूलरूप से चकिया, जनपद बलिया के निवासी  श्वेतांक सिंह महान कवि डॉ. केदारनाथ सिंह के परिवार से हैं। इनके पिता यशवंत सिंह भी चर्चित कवि हैं। शिक्षा और समाज सेवा के क्षेत्र में कार्य करने वाली संस्था नया विचार नई ऊर्जा फाउंडेशन ऑफ इंडिया के उत्तर प्रदेश संयोजक के रूप में भी अपने सामाजिक दायित्वों का निर्वहन बखूबी कर रहे हैं। सम्मान प्राप्ति की सूचना के बाद पूरे देश से तमाम साहित्यकारों, अधिकारियों और शुभचिंतकों ने इनको अपने बधाई संदेश भेजकर प्रसन्नता जाहिर की।

शिवदयाल पांडेय 'मनन'

Post a Comment

0 Comments