पूर्वोत्तर रेलवे ने इस सेक्शन इंजीनियर को बनाया आज का हीरो


वाराणसी। पूर्वोत्तर रेलवे प्रशासन द्वारा कोविड-19 के संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए यथा सम्भव प्रयास किए जा रहे हैं। पूर्वोत्तर रेलवे के वाराणसी मंडल के कर्मचारी पूरी कुशलता से विभिन्न प्रकार की सामग्री का उत्पादन कर रहे हैं। प्रतिदिन हर मंडल के बेहतर कार्य करने वाले कर्मचारी को मंडल स्तर पर 'कोरोना वारियर आफ द डे' (Corona Warrior of the day) घोषित एवं प्रचारित कर उसका उत्साह वर्धन किया जा रहा है, जिससे अन्य कर्मचारी भी कार्य करने हेतु प्रेरित होते रहें।

इसी क्रम में वाराणसी मंडल के सिवान रेलवे स्टेशन पर सीनियर सेक्शन इंजीनियर (समाडी) के पद पर कार्यरत मनोज कुमार द्वारा कर्तव्यनिर्वहन करते हुए कोरोना योद्धा के रूप में कार्य किया गया। मनोज कुमार यांत्रिक विभाग के एक आज्ञाकारी और समर्पित पर्यवेक्षक हैं। सीवान एवं जलालपुर स्टेशनों से श्रमिक स्पेशल ट्रेनों को चलाने एवं उनके हाईजेनिक रख-रखाव में इनकी महत्वपूर्ण भूमिका रही। 

उन्होंने सभी श्रमिक स्पेशल ट्रेनों को अच्छी तरह से सेनेटाइज करने के साथ अनुरक्षित कर संचालन को  सीवान और जलालपुर में बहुत सफलता पूर्वक संभाला। इन्होंने श्रमिक स्पेशल गाड़ियों  का कोविड-19 प्रोटोकाल के नियमानुसार अनुरक्षण करवा कर उनके निर्धारित गंतव्य स्टेशन तक यात्रा हेतु समुचित व्यवस्था किया। इस अवधि में अधिकतम श्रमिक गाड़ियों का जलालपुर स्टेशन पर आवागमन सफलतापूर्वक संचालित किया गया है। इसके अतिरिक्त श्री कुमार ने श्रमिक यात्रियों को कोविड-19 के प्रति जागरूक किया। कोरोनॉ की विषम परिस्थिति में इन्होंने अपने खंड में कार्यरत सभी समाडी कर्मचारियों को फेस मास्क, साबुन एवं सेनेटाईजर उपलब्ध कराया। प्रतिदिन उनकी हौसला अफजाई करते हुए COVID-19 से बचाव की सलाह एवं सामाजिक दूरी (सोशल डिस्टेंस) का पालन करते हुए श्रमिक स्पेशल ट्रेनों का सुचारू संचालन सुनिश्चित किया। इनके कार्य के प्रति समर्पण की भावना को प्रोत्साहित करते हुए इन्हें कोरोन वारियर ऑफ द डे घोषित किया गया है। जनसंपर्क अधिकारी, वाराणसी अशोक कुमार ने बताया कि पूर्वोत्तर रेलवे प्रशासन द्वारा लॉकडाउन अवधि में इस तरह के सराहनीय कार्य करने वाले रेलकर्मियों पुरस्कृत कर सम्मानित किया जाता रहेगा। पूर्वोत्तर रेलवे को अपने इन कर्मचारियों पर गर्व है।


Post a Comment

0 Comments